Top
undefined

तीन महीने बाद वन विहार में फिर लौटी पर्यटकों की रौनक

तीन महीने बाद वन विहार में फिर लौटी पर्यटकों की रौनक
X

स्वदेश संवाददाता भोपाल। शहर का सबसे बड़ा पार्क वन विहार विगत तीन माह से कोरोना संक्रमण के चलते बंद था। अब लेकिन सरकार की गाइडलाइन के तहत सोमवार से खोल दिया गया हालांकि इसके पहले तमाम व्यवस्थाएं की गई ताकि किसी पर्यटक को कोई परेशानी न हो साथ ही पर्यटकों को भी गाइडलान का पालन करना अनिवार्य किया गया है। यदि कोई पर्यटक गाइडलान का उल्लंघन करता पाया जाता है तो फिर उसके खिलाफ कार्रवाई का भी प्रावधान किया गया है। राजधानी का वन विहार नेशनल पार्क खुलने के बाद पूरे दिन में सुबह से शाम तक पहले दिन तो केवल 143 पर्यटक ही पहुंचे। जबकि दूसरे दिन इनकी संख्या में कुछ इजाफा हुआ। पार्क को इन पर्यटकों से भले ही कम आय हुई है लेकिन आनेवाले दिनों में संख्या बढ़ जाएगी। इन पर्यटकों और इनके वाहनों से कोरोना या दूसरा कोई संक्रमण पार्क के अंदर न पहुंचे, इसको लेकर पार्क प्रबंधन ने हर तरह की व्यवस्थाएं की हैं और अपने स्टाफ को भी इसके लिए तैयार किया है। कोई भी पर्यटक पार्क में बिना मास्क और कोरोना से सुरक्षा इंतजाम के नहीं आने दिया जा रहा है। वहीं सेनेटाइज का भी उपयोग किया जा रहा है। पार्क के अंदर चुनिंदा स्थानों को दोपहर में सैनिटाइज भी किया गया। गौरतलब है कि यहां पर जो पर्यटक पहुंचे थे उन्होंने बहुत दिनों बाद पार्क को नजदीक से देखा, पूरे समय अंदर घुमते रहे। बाघ, सिंह व तेंदुए के बाड़े तक पहुंचे, भालू को देखा। चीतल, हिरण, सांभर की तस्वीरें खींची। पार्क में रोजाना छह सौ पर्यटकों को प्रवेश मिलना है लेकिन पहले दिन सिर्फ 143 पर्यटक ही पहुंच सके। पर्यटक दिनेश सिंह ने बताया कि वे मौज से पार्क घुमने आए, उन्हें कोरोना का डर नहीं है क्योंकि सावधानी बरत रहे हैं। आगे भी पार्क आते रहेंगे।

इनका कहना

'सरकार की गाइडलाइन के तहत वन विहार नेशनल पार्क को पर्यटकों के लिए खोल दिया है। हालांकि पहले दिन कम पर्यटक आए थे, अब धीरे-धीरे इनकी संख्या बढ़ेगी। पार्क पूरी तरह छह सौ पर्यटकों के प्रवेश के लिए तैयार है। कहीं कोई दिक्कत नहीं है। पूरी सुरक्षा के इंतजाम हैंÓ।

-अशोक कुमार जैन, डिप्टी डायरेक्टर वन विहार भोपाल।

Next Story
Share it