Top
undefined

खुलेआम बिक रहा है गुटका-तंबाकू और पान-सिगरेट

खुलेआम बिक रहा है गुटका-तंबाकू और पान-सिगरेट
X

स्वदेश संवाददाता। भोपाल कोरोना काल में सभी लोगों से मास्क लगाने, बार-बार हाथ साफ करने के अलावा जरुरत के समय पर ही घर से सुरक्षा के साथ बाहर निकलने की अपील जिम्मेदारों के द्वारा अलग-अलग प्लेटफार्मों से की जा रही है, इतना ही नहीं मादक खाद्य पदार्थो को खाकर जगह-जगह थूकने वालों का चालान नगर निगम प्रशासन के जिम्मेदारों के द्वारा किया जा रहा है। फिर भी शहर में खुलेआम गुटका-तंबाकू और पान-सिगरेट की गुमटियां खुल गईं है, किराना की दुकानों और सांची पार्लरों में भी बिक्री किए जाने लगे हैं। ऐसे में थूकने पर प्रतिबंध लगाना बेमानी होगा। जब कोई शौकीन पान या तंबाकूयुक्त गुटका खाएगा तो जगह-जगह बार-बार जरुर थूकेगा। अगर यही व्यवस्थाएं रहीं तो शहर को कोरोनामुक्त कर पाना असंभव होगा। नगर निगम के जिम्मेदार एक या दो लोगों पर थूकने का जुर्माना लगाकर काूनन का पालन करवाने की बात को हर रोज कहता हुआ दिखाई देता है, जबकि वास्तिविकता बोलती हुई इस तस्वीर से जानी जा सकती है।

संस्थाओं में भी लापरवाही

शासकीय कार्यालयों की बात करें तो इन कार्यालयों में कार्य करने वाले अधिकारी-कर्मचारी भी अपनी तलब मिटाने के लिए कर्तव्य समय पर गुटका-तंबाकू या फिर पानी मुंह में दबाए हुए देखे जा सकते हैं। यह कर्मचारी कार्यालय के कोनो में थूकते हुए या फिर कार्यालय के बाहर सिगरेट पीते हुए दिखाई देते हैं। इन लोगों को देखकर ऐसा नहीं लगता है कि शहर में कोरोना संक्रमण फैला हो, बेखोफ होकर हाथ में सिगरेट और मुंह में पान-गुटका दबाकर कर्तव्य समय पर ठहाका लगाते हुए देखे जा सकते हैं, जबकि ऐसे कर्मचारियों की एक दिन छोड़कर यानि सप्ताह में तीन या चार दिन की ही ड्यूटियां कर्तव्य स्थल पर ही ली जा रही है, शेष दिनों का अवकाश आज भी मिल रहा है। फिर भी सिर्फ मौज मस्ती कर प्रतिबंधित मादक खाद्य पदार्थो का सेवन करना देश की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ ही माना जाएगा।

Next Story
Share it