Top
undefined

सात जनवरी से चलेंगी बरखेड़ा-मंडीदीप के मध्य तीसरी लाइन पर ट्रेन

सात जनवरी से चलेंगी बरखेड़ा-मंडीदीप के मध्य तीसरी लाइन पर ट्रेन
X

भोपाल। पश्चिम मध्य रेल, भोपाल मण्डल के भोपाल-इटारसी रेल खण्ड पर बरखेड़ा-मंडीदीप स्टेशन के मध्य निर्माण की गई 25.01 किलोमीटर तीसरी रेल लाइन के कार्य का निरीक्षण 30 दिसंबर को रेल संरक्षा आयुक्त, मध्य वृत्त, मुम्बई ए. के. जैन द्वारा किया गया। इस दौरान बरखेड़ा-मंडीदीप के मध्य तीसरी रेल लाइन पर विद्दुत इंजन से 125 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से सफल स्पीड ट्रायल किया गया। कार्य की गुणवत्ता से संतुष्ट होकर रेल संरक्षा आयुक्त ने इस तिहरीकरण रेल लाइन पर विद्दुत इंजन द्वारा प्रारंभिक रूप से 100 किलोमीटर प्रति घण्टे की गति से रेल गाडिय़ों के संचालन की स्वीकृति दी है। इस तीसरी लाइन पर गाडिय़ों का परिचालन सात जनवरी 2021 से शुरू होगा। इससे पूर्व भोपाल से हबीबगंज 5.93 किलोमीटर तथा हबीबगंज से मंडीदीप तक 16.41 किलोमीटर तीसरी रेल लाइन पर गाडिय़ों का परिचालन इसी वर्ष शुरू हो चुका है।

गुना-पीलीघटा के मध्य लाइन पर भी दौड़ेगी ट्रेन

पश्चिम मध्य रेल, भोपाल मण्डल के गुना-बीना रेल खण्ड पर गुना-पीलीघटा स्टेशन के मध्य 20 किलोमीटर दोहरीकरण रेल लाइन का कार्य पूरा होने पर मंगलवार को रेल संरक्षा आयुक्त, मध्य वृत्त, मुम्बई ए. के. जैन द्वारा निरीक्षण किया गया। इस दौरान गुना - पीलीघटा के मध्य दोहरीकरण लाइन पर विद्दुत इंजन से 105 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से सफल स्पीड ट्रायल किया गया। कार्य की गुणवत्ता से संतुष्ट होकर रेल संरक्षा आयुक्त ने गुना-पीलीघटा के मध्य दोहरीकरण रेल लाइन पर विद्दुत इंजन द्वारा प्रारंभिक रूप से 75 किलोमीटर प्रति घण्टे की गति से रेल गाडिय़ों के संचालन की स्वीकृति दी है। अब अशोक नगर से रुठियाई तक दोहरीकरण रेल लाइन पर गाडिय़ों का परिचालन शुरू हो जाएगा। आने वाले दिनों में गुना-शिवपुरी रेल खण्ड पर गाडिय़ों की गति 100 किलोमीटर प्रति घंटा से बढ़ाकर 110 किलोमीटर किया जाएगा।

आठ स्टेशनों को मिला स्वच्छता का आईएसओ अवार्ड

पर्यावरण प्रबंधन प्रणाली के लिए भोपाल मण्डल के आठ स्टेशन जिनमें गुना, गंजबासोदा, शिवपुरी, सांची, बीना, इटारसी, होशंगाबाद, विदिशा को आईएसओ प्रमाण पत्र प्रदान किया गया है। भोपाल स्टेशन के पास यह प्रमाण पत्र वर्ष 2019 से ही है। भोपाल डीआरएम ने अपनी खुशी जाहिर करते हुए कहा कि हम रेल मण्डल के स्टेशनों पर यात्री अनुकूल सुविधाएं उपलब्ध कराने के साथ ही उन्हें शुद्ध वातावरण मुहैया कराने एवं पर्यावरण संरक्षण की दिशा में बेहतर काम कर रहे हैं। जिसके परिणामस्वरूप यह प्रमाण पत्र प्राप्त हुआ है। उल्लेखनीय है कि आईएसओ प्रमाण पत्र पर्यावरण के क्षेत्र में किये गए अच्छे कार्यों जैसे स्टेशन पर बेहतर साफ सफाई, यात्रियों के लिए उपलब्ध शुद्ध पेय जल, ऊर्जा संरक्षण की दिशा में किये गये उल्लेखनीय कार्यों आदि के लिए प्रदान किया जाता है। इस अवसर पर मुख्यालय जबलपुर से आये मुख्य प्रशासनिक अधिकारी (निर्माण) राजेश अर्गल, भोपाल रेल मंडल के मण्डल रेल प्रबंधक उदय बोरवणकर एवं इंजीनियरिंग, परिचालन, इलेक्ट्रिकल, सिग्नल एवं दूर संचार विभाग के वरिष्ठ अधिकारी सहित रेल विकास निगम लिमिटेड के अधिकारी दोनो तीसरी लाइनों के निरीक्षण के समय उपस्थित थे। निरीक्षण के दौरान रेल संरक्षा आयुक्त ने इस रेल खंड पर संरक्षा एवं सुरक्षा से जुड़े संसाधनों, ओएचईलाइन, सम्बद्ध उपकरण, तथा सिग्नलिंग आदि का निरीक्षण किया एवं उनकी कार्य क्षमता को परखा।

Next Story
Share it