Top
undefined

चैक पोस्ट बनाने से तीन से चार गुना बढ़ी रेत की रायल्टी

चैक पोस्ट बनाने से तीन से चार गुना बढ़ी रेत की रायल्टी
X

भोपाल बिना रायल्टी के रेत के परिवहन, भंडारण और विक्रय पर रोक लगाने के लिए बनाए गए चैक पोस्ट पर जांच के भोपाल, सीहोर और रायसेन जिले में एक माह में ही सकारात्मक परिणाम देखने को मिले हैं। अकेले सीहोर जिले में ही 27 दिसंबर से 9 जनवरी तक लगभग दो सप्ताह में ही पिछले माह की तुलना में 3 से 4 गुना राजस्व में बढ़ोतरी हुई है। कमिश्नर कियावत ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से रेत खनिज रायल्टी की समीक्षा की। कलेक्टर्स ने बताया कि उनके जिलों में बनाए गए चैक पोस्ट में लगातार जांच चल रही है और बिना रायल्टी चुकाए कोई भी वाहन गंतव्य तक नहीं जा पा रहा है। श्री कियावत ने निर्देश दिए कि ईटीपी में दूर दराज के जिलों के लिए दी जा रही समय अवधि की समीक्षा करें और परिवहन समय को युक्तियुक्त संगत बनाएं। उन्होंने कहा कि नीमच और भिंड जिलों के लिए जा रही रेत में ईटीपी पर अत्यधिक समय दिया जा रहा है, इसे कम किया जाए । उन्होंने ईटीपी में वाहन के रूट में किन किन स्थलों से वाहन गुजरेगा, उसकी पूरी जानकारी अंकित करने के लिए कहा है।

बैठक में सामने आया कि अकेले सीहोर जिले में ही जहां 10 से 16 दिसंबर तक मात्र 1 करोड़ 30 लाख रायल्टी मिली थी, वहां 27 दिसंबर से 2 जनवरी के बीच 4 करोड़ 15 लाख और 3 से 9 जनवरी के सप्ताह में रायल्टी की राशि बढ़कर 8 करोड़ 8 लाख रुपए हो गई है। कमिश्नर कियावत ने विदिशा सहित सभी जिलों के कलेक्टर से कहा कि वे गिट्टी, मुरम और कोपरा के परिवहन, भंडारण और विक्रय पर भी निगाह रखें। उन्होंने कहा कि शासन की मंशा अनुरूप किसी भी प्रकरण में राजस्व का नुकसान बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। अगली बैठक में रेत खनिज रायल्टी में प्रगति पर भोपाल, रायसेन जिले की समीक्षा की जाएगी।

Next Story
Share it