Top
undefined

भोपाल में 175 किमी की रफ्तार से चली हवा ने तोड़ा 50 साल का रिकॉर्ड, 15 मई से चढ़ेगा पारा

मई के महीने में कभी तेज धूप तो कभी हल्की बूंदाबांदी तो कभी तेज हवाएं यह सब प्री -मॉनसून एक्टिविटीज का नतीजा है

भोपाल में 175 किमी की रफ्तार से चली हवा ने तोड़ा 50 साल का रिकॉर्ड, 15 मई से चढ़ेगा पारा
X

भोपाल। हवा ने भोपाल में 50 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया।बुधवार शाम यहां 175 किमी की रफ्तार से हवा चली। राजधानी भोपाल के साथ पूरा मध्य प्रदेश का मौसम लगातार करवट बदल रहा है। सूरज बादल के बीच अठखेलियों के साथ भोपाल में एक ही दिन में गर्मी और बारिश दोनों मौसम अपना-अपना रंग दिखा रहे हैं। मौसम विभाग कह रहा है प्रदेश के तीन संभालों में आज गरज-चमक के साथ बारिश की संभावना है। लेकिन कल यानि 15 मई से पारा अपना असर दिखाना शुरू कर देगा।

हवा ने तोड़ा रिकॉर्ड

हवा की रफ्तार ने भोपाल में 50साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया। 13मई की शाम को अचानक मौसम का मिजाज बदला। शाम 7 बजे के आसपास 175 प्रति घंटा किलोमीटर की रफ्तार से हवा चली और फिर हल्की बारिश हुई। हवा की रफ्तार ने 50साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया।इससे पहले 5 मई 1970 को 120 प्रति घंटा की रफ्तार से हवाएं चली थीं। 50साल बाद साल 2020 में हवा की रफ्तार 175प्रति घंटा थी। डस्ट स्टॉप के कारण विजिविलिटी शून्य हो गयी थी।मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला का कहना है आद्रता बने रहने से हवाएं चलने के बाद भी लोगों को ठंडक का एहसास नहीं हुआ।हवा में आद्रता की मात्रा ज्यादा होने के कारण तेज हवाएं चलने के बाद भी गर्मी से राहत नहीं मिली।

उमस ने बढ़ायी बेचैनी

भोपाल में मौसम कई बार बदल रहा है।बुधवार को दिन का तापमान भले ही 40 डिग्री के पार नहीं जा पाया,लेकिन उमस ने सबकी परेशानी बढ़ा दी। दोपहर ने तीखी धूप और तेज़ गर्मी का अहसास कराया तो शाम होते ही घने बादल छा गए। बारिश की एक झड़ी ने पाार थोड़ी लुढ़काया लेकिन उसने गर्मी से बहुत ज्यादा राहत नहीं दी।

3 संभागों में बारिश का पूर्वानुमान

आज 14 मई को प्रदेश के तीन संभागों में बारिश के आसार हैं। मौसम विभाग का पूर्वानुमान कह रहा है कि आज गरज चमक के साथ प्रदेश के 3 संभागों में बारिश होने के आसार हैं। ग्वालियर,भोपाल और इंदौर संभाग के जिलों विदिशा,होशंगाबाद,सागर,रायसेन, बैतूल खरगोन,बड़वानी, झाबुआ,धार उज्जैन,देवास,शाजापुर, ग्वालियर, भिंड, शिवपुरी में गरज चमक के साथ बारिश होने की संभावना है।वही 30से 40किमी प्रति घंटा की रफ्तार से हवाएं चलने के आसार हैं।

15 मई से चढ़ेगा पारा

अब तक सुस्त चल रहा पारा 15 मई के बाद तेज़ी दिखाएगा। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक मध्यप्रदेश में साउथ वेस्ट एमपी से कर्नाटका के बीच टर्फ लाइन(द्रोणिका लाइन)बनी हुई है।जिससे 15मई के बाद मौसम में फिर से बदलाव देखने को मिलेगा। तापमान में इजाफा होने के साथ लोगों को झुलसा देने वाली गर्मी का एहसास होगा।

देखिए अपने शहर का तापमान

प्रदेश के मालवा इलाके के खरगोन,खंडवा, रतलाम में गर्मी असर दिखा रही है। बुधवार को यहां तापमान 43डिग्री के पार हो गया है। मई के महीने में है जहां प्रदेश भर में झुलसा देने वाली गर्मी होती थी। लू के थपेड़ों से लोग बेहाल होते थे। लेकिन इस बार मध्यप्रदेश में पारा 45 डिग्री के पार नहीं पहुंचा है। प्रदेश भर में सिर्फ इन तीन शहरों खंडवा,खरगोन, रतलाम में सबसे ज्यादा 43 डिग्री तापमान दर्ज किया गया। उसके बाद राजगढ़ में 42 डिग्री तापमान रिकॉर्ड। खजुराहो,रायसेन,शाजापुर में अधिकतम तापमान 41।8 डिग्री दर्ज किया गया।होशंगाबाद, मंडला में 41।2, सागर- दमोह में 41 डिग्री, भोपाल में 39।8 और इंदौर में 39।4 डिग्री तापमान रिकॉर्ड किया गया।

प्री मॉनसून एक्टिविटी

मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला का कहना है मई के महीने में कभी तेज धूप तो कभी हल्की बूंदाबांदी तो कभी तेज हवाएं यह सब प्री -मॉनसून एक्टिविटीज का नतीजा है। मॉनसून की आमद से पहले इस तरह की प्री- मॉनसून गतिविधियां लगातार देखने को मिलती हैं।हालांकि तेज हवाओं के साथ हल्की बूंदाबांदी के कारण फिलहाल उमस से राहत नहीं मिल रही है और ना ही रात के तापमान में ज्यादा गिरावट आ रही है। हालांकि जितनी ज्यादा गर्मी होगी। तापमान में जितना इजाफा होगा,बारिश की स्थिति भी बेहतर होगी।

Next Story
Share it