Top
undefined

काविद -19 से बचने एमपी में अनोखी पहल, 3000 कैदियों को पिलाया जा रहा स्पेशल काढ़ा

मध्य प्रदेश की जेलों में कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए कैदियों को स्पेशल काड़ा दिया जा रहा है।

काविद -19 से बचने एमपी में अनोखी पहल, 3000 कैदियों को पिलाया जा रहा स्पेशल काढ़ा
X

भोपाल। मध्य प्रदेश की जेलों में कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए कैदियों को स्पेशल काड़ा दिया जा रहा है। उन्हें यह काड़ा सुबह-शाम दिया जाता है। इसको देते समय सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाता है। जेल के कैदी बकायदा एक गिलास लेकर आते हैं। फिर उन्हें आधा गिलास काड़ा दिया जाता है। जेल प्रशासन का मानना है कि इस काढ़े को पीने से उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ सकती है। ऐसे में कैदी जेल के अंदर रहने के दौरान संक्रमण से बच सकते हैं।

ऐसे तैयार किया जा रहा काड़ा

भोपाल सेंट्रल जेल अधीक्षक दिनेश नरगावे ने न्यूज 18 को बताया कि कैदियों को जेल में सुबह और शाम आधा गिलास स्पेशल काड़ा दिया जाता है। यह काड़ा तुलसी, हल्दी, काली मिर्च और अदरक से तैयार किया जाता है। जेल परिसर में तुलसी और हल्दी लगी हुई है, जबकि काली मिर्च और अदरक बाहर से खरीदा जा रहा है।

सोशल डिस्टेंसिंग का पालन

जेल के अंदर 3000 कैदियों को यह काड़ा सुबह-शाम दिया जा रहा है। जब यह काड़ा दिया जाता है तो जेल के अंदर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाता है। जेल परिसर में कैदियों की एक लाइन लगाई जाती है, जिसमें सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा रहा है। जमीन पर गोले बनाए गए हैं। इन गोले में सभी कैदी लाइन में खड़े होते हैं। उसके बाद एक के बाद एक अपना काड़ा गिलास में लेते हैं। फिर वे अपने बैरक में चले जाते हैं। सभी कैदियों को माक्स उपलब्ध कराए गए हैं। वह माक्स पहनते हैं। इसके अलावा यदि वह जेल के अंदर कोई काम करते थे, तो उन्हें ग्लब्स भी दिए गए हैं। जेल के अंदर कैदियों के हाथ-पैर धोने के लिए अलग से व्यवस्था की गई है। इसके अलावा जेल को सैनिटाइज भी किया जाता है। अगर किसी कैदी को बुखार, सर्दी या जुकाम होता है तो उसका इलाज जेल के अंदर मौजूद डॉक्टर से कराया जाता है।

Next Story
Share it