Top
undefined

स्पेशल ट्रेन से नासिक से भोपाल पहुंचे मध्य प्रदेश के 347 मजदूर, जांच के बाद घर रवाना

सुरक्षा की वजह से मिसरोद रेलवे स्टेशन पर ट्रेन को रोका गया। देर रात ही जीआरपी और आरपीएफ के जवान सुरक्षा में तैनात कर दिए गए थे।

स्पेशल ट्रेन से नासिक से भोपाल पहुंचे मध्य प्रदेश  के 347 मजदूर, जांच के बाद घर रवाना
X

भोपाल।मध्य प्रदेश के मज़दूरों को लेकर ट्रेन नासिक से भोपाल पहुंची। अलसुबह पहुंची ट्रेन में पहली खेप में 347 मज़दूर आए हैं। इन सभी को सोशल डिस्टेंस के साथ मिसरोद स्टेशन पर उतारा गया और फिर सबकी मेडिकल जांच की गयी। उसके बाद इन्हें बसों में बैठाकर घर के लिए रवाना कर दिया गया। रेल एसपी राजेश सगर ने बताया कि स्पेशल ट्रेन के आने से पहले तमाम व्यवस्थाएं कर ली गई थीं। सोशल डिस्टेंस के तहत रेलवे स्टेशन पर गोले बना दिए गए थे। उन्हीं गोलों में सभी 347 मजदूरों को बैठाया गया। उनकी जांच की गई और उसके बाद सभी मजदूरों को उनके घरों तक बसों से रवाना कर दिया गया। यह सभी मजदूर प्रदेश के 29 अलग-अलग जिलों के हैं। मजदूरों को किसी तरीके की दिक्कत इसलिए प्रशासन की अलग-अलग टीमें काम कर रही थीं।

सोशल डिस्टेंस

मजदूरों ने बताया कि ट्रेन में उन्हें किसी तरीके की दिक्कत नहीं हुई। वह सुरक्षित अपने घर लौटे हैं। प्रशासन ने खाने की अच्छी व्यवस्था की थी। महाराष्ट्र में उन्हें 1 महीने के लिए क्वॉरेंटाइन किया गया था।सभी मजदूरों के लिए मास्क पहनना कर रवाना किया गया था।अधिक दूरी तक चलने वाली विशेष ट्रेनों में मजदूरों को रेलवे की ओर से खाना उपलब्ध कराया गया। सभी मजदूरों की चढ़ते और उतरे समय जांच की गयी। इस विशेष ट्रेन में भोपाल के अलावा कई जिलों के मजदूर हैं। सभी को बसों से इनके घर के लिए रवाना किया गया। मजदूरों को स्टेशन परिसर से बाहर निकालते समय सभी गाइडलाइन का पालन किया गया। रेलवे जीआरपी आरपीएफ के अधिकारियों के बीच हुई बैठक के दौरान पहले भोपाल रेलवे स्टेशन उसके बाद हबीबगंज रेलवे स्टेशन पर ट्रेन को रोकना तय हुआ था। लेकिन बाद में प्लान चेंज किया गया और सुरक्षा की वजह से मिसरोद रेलवे स्टेशन पर ट्रेन को रोका गया। देर रात ही जीआरपी और आरपीएफ के जवान सुरक्षा में तैनात कर दिए गए थे।

Next Story
Share it