Top
undefined

निगम की गाड़ियां 380 रूटों पर सब्जियां बेचेंगी

3 दिन की परेशानी के बाद लोग स्वास्थ्य के प्रति भी जागरुक देखे जा रहे हैं। जब तक जरूरी नहीं हो, लोग घरों से नहीं निकल रहे।

निगम की गाड़ियां 380 रूटों पर सब्जियां बेचेंगी
X

भोपाल. कोरोनावायरस के चलते शहर में लगे कर्फ्यू में गरीब लोग कहीं भूखे नहीं रह जाएं, इसके लिए शहरभर में सैकड़ों लोगों ने संकल्प लिया है। लोग सुबह बेसहारा और गरीब लोगों के लिए पहले नाश्ता फिर दोपहर और रात के भोजन की व्यवस्था में लगे हैं। जिला प्रशासन और नगर निगम की मदद से भी लोगों को भोजन बांटा जा रहा है। 3 दिन की परेशानी के बाद लोग स्वास्थ्य के प्रति भी जागरुक देखे जा रहे हैं। जब तक जरूरी नहीं हो, लोग घरों से नहीं निकल रहे। शनिवार को नगर निगम की गाड़ियां शहर के 380 रूटों पर वाहनों से घर-घर जाकर सब्जियां बेचेंगी। लेकिन इसके लिए भी नगर निगम ने गाइडलाइन जारी की है। सब्जी सिर्फ उन्हीं लोगों को मिलेगी जो गाइडलाइन का पालन करेंगे। यानि पर्याप्त दूरी और मास्क लगाकर सब्जी खरीदने आएंगे। किराने के सामान की होम डिलिवरी व्यवस्था असफल होने से अब जिला प्रशासन में किराना दुकानें खुलवाने का निर्णय लिया है। इन दुकानों पर भी लोगों को पर्याप्त दूरी पर सामान खरीदने की हिदायत दी जा रही है।

लोगों की मदद के लिए आगे आए हजारों लोग

शहर में 5 दिन से कई सामाजिक संस्थाएं असहाय और निर्धन लोगों की सेवा में जुट गई हैं। भोजन, किराना, सैनिटाइजर, मास्क आदि जरूरत का सामान पहुंचाया जा रहा। शहर की सामाजिक संस्थाएं और कॉलेजों के छात्र प्रशासन की मदद कर रहे हैं। संस्था सेवाभारती द्वारा शहर में चार केंद्र बनाए गए हैं। यहां से जरूरतमंद लोगों तक मदद पहुंचाने के लिए यहां जरूरत का सामान और भोजन पैकेट शहर की बस्तियों में सुबह शाम और रात को बांटे जा रहे हैं। इसी तरह यूथ फाउंडेशन के छात्र भी हर दिन करीब 1500 खाने के पैकेट और अन्य जरूरी सामान लोगों तक पहुंचा रहे हैं। दिंगबर जैन पंचायत की ओर से भी बेसहारा और गरीब लोगों की मदद में कोई कसर नहीं छोड़ी जा रही है। संस्था के लोग हर दिन 500 से अधिक खाने के पैकेट जरुरत मंद लोगों के लिए सुबह और शाम बांट रहे हैं। शहर के कई गुरुद्वारों में लंगर शुरू किए गए हैं। यहां लोग कोरोना वायरस के लिए नर्धारित गाइड लाइन का पालन करते हुए भोजन कर रहे हैं। धार्मिक संगठनों और प्रशासन की अपील के बाद आज शहर में असहाय और फुटपाथ पर रहने वालों को भोजन के पैकेट उपलब्ध कराने वालों की संख्या काफी बढ़ गई। जहां कोई गरीब दिखता उसे पैकेट दे देते। नादरा बस स्टैंड, हमीदिया रोड और रेलवे स्टेशन पर लोग अलग-अलग दिन में कई बार भोजन के पैकेट लेकर पहुंचे।

ये बदलाव देखने मिल रहे

सड़कों पर लोगों की संख्या बीते दिनों के मुकाबले बेहद कम है। जो लोग बाजार में कुछ खरीदारी करने आए वो दुकान के सामने की गई मार्किंग में अपनी बारी का इंतजार करते नजर आए। शहर काजी की अपील के बाद लोग मस्जिदों में नमाज अदा करने नहीं जा रहे हैं। मुस्लिम लोगों ने अपने घर पर ही नमाज अदा करना शुरू कर दिया है। नमाज के मस्जिदों में ताले डाल दिए गए। पुराने शहर की स्थिति में बड़ा सुधार देखने में आया है। लालघाटी के कर्मा मेडिकल स्टोर 10 नंबर के शंकर मेडिकल स्टोर को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने जिला प्रशासन की मदद से सील किया है। बीते दो दिन से इन मेडिकल स्टोर पर सैनिटाइजर और मास्क तय कीमत से ज्यादा दाम पर बेचे जा रहे थे।

Next Story
Share it