Top
undefined

44 जिलों में शुरू हुई कोरोना की जांच, अब कन्फर्म टेस्ट भी यहीं होंगे

44 जिलों में शुरू हुई कोरोना की जांच, अब कन्फर्म टेस्ट भी यहीं होंगे
X

भोपाल। प्रदेश में कोरोना के बढते संक्रमण के बीच मरीजों की जांच के लिए सैंपलों को अब मेडिकल कॉलेज या बड़ी लैब के सहारे रहने की जरूरत नहीं है। अब जिला अस्तपालों में कोरेाना की कन्फर्म रिपोर्ट मिल जाएगी। दरअसल, स्वास्थ्य विभाग ने सभी जिला अस्पतालों में कोरोना की जांच के लिए ट्रू नॉट मशीन इंस्टॉल की थी, लेकिन इन मशीनों से अब तक सिर्फ स्क्रीनिंग टेस्ट किए जा रहे थे। कन्फर्मेट्री टेस्ट के लिए सेंपल मेडिकल कॉलेजों की लैब में आरटीपीसीआर के लिए भेजने पड़ रहे थे। अब विभाग ने डेढ़ हजार कन्फ मेट्री टेस्ट किट जिला अस्पतालों को उपलब्ध कराए हैं।

मेडिकल कॉलेजों की लैब में पर निर्भरता होगी कम

स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार मेडिकल कॉलेजों की लैब पर सेंपल टेस्टिंग का लोड कम करने के लिए इन मशीनों को शुरू किया गया है। केन्द्र सरकार ने जिला अस्पतालों को एक लाख स्क्रीनिंग टेस्ट किट दी हैं। भोपाल के जेपी अस्पताल सहित प्रदेश के लगभग && जिलों में अब कन्फ मेट्री टेस्ट भी शुरू हो गए हैं।

पांच हजार कन्फर्मेट्री टेस्ट किट जल्द मिलेंगी

स्वास्थ्य विभाग ने भारत सरकार से मिली डेढ हजार कन्फमेट्री टेस्ट किट && जिलों में पंहुचाई हैं। प्रदेश में सेंपल टेस्टिंग क्षमता बढाने के लिए 5 हजार टेस्ट किट की खरीद कर जिलों को उपलब्ध कराई जाएंगी।

रेंडम जांच भी होगी

हेल्थ कॉर्पोरेशन के अधिकारियों के मुताबिक गाइडलाइन के अनुसार ट्रू नॉट से कुल स्क्रीनिंग टेस्ट के पांच फीसदी कन्फमेट्री टेस्ट होने चाहिए। इसमें ज्यादातर स्क्रीनिंग में पॉजिटिव मिले सेंपल की ही कन्फ र्म जांच की जाएगी। यदि सभी सेंपल निगेटिव आते हैं तो उनमें से पांच फीसदी सेंपल का रेंडम सिलेक्शन कर दोबारा कन्फर्मेट्री टेस्ट किए जाएंगे। ताकि ये पता चल सके कि मशीन से सही टेस्ट हो रहे हैं।

ट्रू नॉट मशीन की स्थिति

41 जिलों में शुरू हुई ट्रू नॉट मशीन से जांच

6107 स्क्रीनिंग टेस्ट हो चुके हैं प्रदेश में

2040 टेस्ट हो सकते हैं प्रदेश में इस मशीन से।

Next Story
Share it