Top
undefined

90 फीसद बीमारियों का मूल कारण है मनुष्य का मन : ब्रह्मकुमारी अवधेश

90 फीसद बीमारियों का मूल कारण है मनुष्य का मन : ब्रह्मकुमारी अवधेश
X

स्वदेश संवाददाता भोपाल। मन पर विजय प्राप्त कर ली तो ज्यादातर बीमारियों पर हम विजय प्राप्त कर लेते हैं। अब चाहे वह कोरोना जैसी वैश्विक महामारी ही क्यों न हो। हम जैसी बातें मन में लातो हैं उनका प्रभाव भी शरीर पर वैसा ही होता है। अत: मनोंवैज्ञानिकों ने इतना तो दावा किया है कि 90 प्रतिशत बीमारियों का मूल कारण मन ही है। 10 प्रतिशत पर्यावरण, वायरस, संक्रमण, खान-पान, घटना-दुर्घटना है। यह बात आज मप्र की जोनल डायरेक्टर ब्रह्मकुमारी दीदी अवधेशजी ने कोरोना के संबंध में ब्रह्मकुमारी विवि द्वारा आयोजित होने वाले कार्यक्रम के शुभारंभ अवसर पर कही। उन्होंने कहा कि आज मानव भय, चिंता, तनाव, खान-पान की अशुद्धता के वशीभूत होकर अनेकानेक बीमारियों का शिकार बन गया है। अत: अब ऐसे भयानक कोरोना के चक्रव्युह में सारा विश्व फंॅसा हुआ है। हम शिवशक्तियों ने परमात्मा प्रेरणा को स्वीकार कर मानव को इस महामारी से बचाने का दृढ़ निश्चय किया है।

शिखरता पर पहुंचाने में आध्यात्मिक विज्ञान महत्वपूर्ण

दीदी अवधेशजी ने कहा कि राजयोग एक आध्यात्मिक विज्ञान है जहां भौतिक विज्ञान से सहस्त्र गुणा अपनी अदम्य क्षमता रखता है। जहां भौतिक विज्ञान अपनी कोहताश, निराश, असंभव अनुभव करता है। वहां आध्यात्मिक विज्ञान हमें सफलता के शिखर पर पहुंचता है। भौतिक विज्ञान को भी इतनी ऊॅंचाईयों पर पहुंचाने वाला आध्यात्मिक विज्ञान ही है। लेकिन मानव नहीं समझ पा रहा है। उन्होंने कहा कि राजयोग का आधार मन ही है और मन अनंत, अपार शक्तियों का स्वामी है। जो कल्पना चित्र अन्दर उदय होता है। वहीं स्थूल स्वरूप से बाहर उभर कर आता है। मन का स्वभाव संकल्प है। मन के संकल्प के अनुरूप ही जगत का निर्माण होता है।

प्रतिदिन 18 घंटे चलेगा कार्यक्रम

कार्यक्रम की जानकारी देते हुए ब्रह्मकुमारी डॉ. रीना दीदी ने कहा कि प्रजापिता ब्रह्मकुमारी ईश्वरीय विवि द्वारा आज 'महामारी कोरोना को जड़ से मिटाओ हैल्थ वैल्थ हैप्पीनेस आध्यात्मिक प्रयोगशालाÓ का उद्घाटन हुआ है। यहां पर प्रतिदिन सुबह चार बजे से दस बजे तक आगामी 24 जून से 15 अगस्त तक लगातार 18 घंटे तक मेडिटेशन की विभिन्न क्रियाओं का ध्यान कराया जाएगा। इसके साथ विद्वानों के प्रवचन, वेबीनार के माध्यम से होंगे। इसमें शामिल होकर हम सभी कोरोना पर विजय प्राप्त करने में सफल होंगे।

Next Story
Share it