Top
undefined

कल भोपाल में 2, उज्जैन में 1 की कोरोना वायरस से हुई मौत, राज्य में मरने वालों की संख्या हुई 79

राज्य में मरने वालों की संख्या 79 हो गई है। वहीं, प्रदेश में सोमवार रात तक संक्रमितों की संख्या 1485 पर पहुंच गई थी।

कल भोपाल में 2, उज्जैन में 1 की कोरोना वायरस से हुई मौत, राज्य में  मरने वालों की संख्या हुई 79
X


भोपाल। मध्यप्रदेश में लॉकडाउन फेज-2 का आज सातवां दिन है। राज्य में संक्रमण से मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। मंगलवार को भोपाल में दो मरीजों ने और उज्जैन में एक टीआई ने दम तोड़ दिया। इसके साथ राज्य में मरने वालों की संख्या 79 हो गई है। वहीं, प्रदेश में सोमवार रात तक संक्रमितों की संख्या 1485 पर पहुंच गई थी।

इस बीच, आज से इंदौर के पीथमपुर, भिंड के मालनपुर और भोपाल के मंडीदीप औद्योगिक क्षेत्रों की कुछ फैक्ट्रियों में कामकाज शुरू हो गया है। सरकार भोपाल, इंदौर, उज्जैन, धार और खरगोन को छोड़कर बाकी 47 जिलों के सरकारी कार्यालयों में मंगलवार से 33 फीसदी कर्मचारियों के साथ कामकाज शुरू होने की खबर आ रही है।

उज्जैन के नीलगंगा थाना टीआई यशवंत पाल (59) की कोरोना से इंदौर में इलाज के दौरान मौत हो गई है। 27 मार्च को ड्यूटी के दौरान संक्रमित हुए थे। इसके बाद उन्हें इंदौर लाया गया। यहां उनकी हालत बिगड़ती चली गई। लंबे इलाज के बाद इंदौर के अरविंदो अस्पताल में मंगलवार सुबह साढ़े पांच बजे उनकी मौत हो गई। भोपाल में 70 और 60 साल के दो मरीजों की मौत हो गई। इसके साथ शहर में इस बीमारी से 7 लोग दम तोड़ चुके हैं। भोपाल से दिल्ली से भेजे गए 2638 कोराना सैम्पल की रिपोर्ट आज आ सकती है।

राज्य सरकार का कहना है कि अगर लोगों ने नियमों का पालन नहीं किया तो सरकार एक बार फिर से पूरे राज्य में सख्ती से लॉकडाउन लागू कर सकती है।

केंद्र सरकार ने इंदौर की भयावह स्थिति को देखते हुए दिल्ली से एक टीम भेजी है। ये टीम इंदौर के हॉटस्पॉट इलाकों का निरीक्षण करके अधिकारियों को संक्रमण रोकने के लिए दिशा-निर्देश देगी। इस संबंध में केंद्र को भी अपनी रिपोर्ट सौंपेगी।

भोपाल से सटे औद्योगिक क्षेत्र मंडीदीप में करीब 25 उद्योग मंगलवार से उत्पादन शुरू हो गया है। राजधानी में भेल और इससे लगे गोविंदपुरा औद्योगिक क्षेत्र की सभी छोटी-बड़ी यूनिट बंद रहेंगी।

इंदौर के पीथमपुर और भिंड के मालनपुर औद्योगिक क्षेत्र में काम शुरू हो सकता है। सबसे बड़ी परेशानी यही है कि फैक्ट्रियों में करीब 20 दिन से ज्यादा समय से शटडाउन है। ऐसे में मशीनों को अचानक शुरू करने में दिक्कत आ सकती है। मंडीदीप इंडस्ट्रियल एसोसिएशन के अध्यक्ष राजीव अग्रवाल ने बताया कि ज्यादातर कंपनियों में काम कर रहे श्रमिक घर लौट गए हैं। ऐसे में उद्योग कैसे शुरू हो पाएंगे, यह कहना मुश्किल है।

Next Story
Share it