Top
undefined

पहली बार विमान में बैठे मूकबधिर बच्चे, ख़ुशी से आंख भर आईं

पहली बार विमान में बैठे मूकबधिर बच्चे, ख़ुशी से आंख भर आईं
X

इंदौर। निजी उड़ान कंपनी फ्लायबिग ने गुरुवार को इंदौर से जबलपुर के बीच में एक चैरि‍टी उड़ान का संचालन किया। कंपनी ने इस फ्लाइट में शहर के चार मूक बधिर बच्चों को भी सफर करवाया। पहली बार विमान में बैठ हवा की सैर करने वाले मूकबधिर बच्चे अपनी भावनाओं पर काबू नहीं रख पाए। किसी ने इशारों से उनके रोंगटे दिखाए तो किसी की आंंखें भर आई। फ्लायबिग के सेल्स हेड तारिक अब्बासी ने बताया कि हम अपना संचालन 3 जनवरी से शुरु करने जा रहे हैंं। उसके पहले हमने एक यह उड़ान चलाई है। यह उडान सुबह जबलपुर गई और शाम को वापस लौट कर आई। इसमें आनंद सर्विस सोसयटी के चार मूक बधिर बच्चों को भी सफर करवाया गया है। आंनद सर्विस सोसायटी की मोनिका पुरोहित ने बताया कि हमारे संस्थान के चार बच्चों कनिष्क,तनुश्री,गौरी और विजयपाल को इस उड़ान में भेजा गया था। बच्चों को जब हमने इसके बारे में सूचना दी तो वे काफी खुश हो गए थे। काफी उत्साहित भी हो गए थे। सुबह 9 बजे हमारा विमान उडान भरने वाला था। लेकिन बच्चे सुबह पांच बजे से उठ कर तैयार होने लगे थे। 7 बजे तो हम उन्हें लेकर एयरपोर्ट पहुंच गए।मूकबधिर बच्चों के साथ हवाई सफर में मोनिका पुरोहित भी थी। उन्होंने पहली बार सफर करने वाले चारों बच्चों की बातों को साइन लेग्वेंज में समझने के बाद इसे नईदुनिया को बताया कि चारों बच्चें कनिष्क,तनुश्री,गौरी और विजयपाल को जब हमने इस प्रकार से जबलपुर तक विमान में घूमने की बात बताई तो चारों काफी उत्साहित थे। क्योंंकि चारों बच्चे कभी उड़ान में नहीं बैठे थे।

इस उत्साह में वे रात भर सो न सके थे। एयरपोर्ट की टर्मिनल बिल्डिंग देख कर ही खुशी से फूले नहीं समा रहे थे। जब उन्हें विमान में ले जाया गया तो विमान में बैठ कर उनके रोंगटे खड़े हो गए। जबकि लड़़कियों की तो आखें ही भर आई। बच्चों ने एयरलाइंस और प्रबंधन का धन्‍यवाद दिया कि इसके कारण उनका सपना पूरा हो गया है। मोनिका पुरोहित ने बताया कि तनुश्री कौशल,गौरी चौहान,विजयपाल सिंह,कनिष्क पैरवाल का चयन किया गया था। यह चारों बच्चे काफी गरीब परिवारों से है। वे कभी फ्लाइट में नहीं बैठे थे। इसके अलावा वे पढ़ने में भी काफी अच्छे हैंं। इस आधार पर इनका चयन किया गया। तनुश्री फ्लाइट में बैठने के बाद काफी भावुक हो गई थी और उसकी आखें भर आई थी।

Next Story
Share it