Top
undefined

इंदौर में कोरोना से मरे 72 में से 45 मरीजों को थी डाइबिटीज और बीपी समेत दूसरी बीमारी \

कोरोना वायरस का सबसे ज्यादा खतरा हाई रिस्क ग्रुप में रहा है। इसमें 5 साल के छोटे बच्चे, गर्भवती महिलाएं, बुजुर्ग और बीमार व्यक्ति शामिल हैं

इंदौर में कोरोना से मरे 72 में से 45 मरीजों को थी डाइबिटीज और बीपी समेत दूसरी बीमारी \
X

इंदौर। इंदौर में कोरोना से मौत का आंकड़ा सबसे ज्यादा है। यहां अब तक 72 मरीजों की मौत हो चुकी है। यानि मौत का प्रतिशत देखा जाए तो ये करीब 5 फीसदी है। जिन 72 मरीजों की मौत हुई उनमें से 45 मरीज ऐसे थे जो पहले से शुगर, बीपी समेत दूसरी बीमारियों से ग्रसित थे। सिर्फ 27 मरीज ऐसे हैं जिनकी मौत की वजह सिर्फ और सिर्फ कोरोना का वायरस रहा है। इन मरीजों में इस बीमारी का घातक संचार क्यों हुआ, इसका पता लगाने के लिए एमजीएम मेडिकल कॉलेज डेथ ऑडिट करवा रहा है। वो इनके सैंपल नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी पुणे भेजेगा।

हाई रिस्क ग्रुप के लिए ज्यादा खतरनाक

कोरोना का सबसे ज्यादा खतरा हाई रिस्क ग्रुप में रहा है। इसमें 5 साल के छोटे बच्चे, गर्भवती महिलाएं, बुजुर्ग और बीमार व्यक्ति शामिल हैं। सीएमएचओ डॉ। प्रवीण जडिय़ा के मुताबिक, जब मरीज दूसरी बीमारी से पीडि़त होता है तो उसकी रोग प्रतिरोधी प्रणाली तुलनात्मक रूप से कमजोर हो जाती है, जिससे वो हाई रिस्क जोन में आ जाता है। यही कारण रहा कि ज्यादातर मौते उन्हीं लोगों की हुईं जो पहले से किसी न किसी बीमारी से ग्रसित थे। इनमें 40 मृतकों की उम्र 50 से 70 साल के बीच थी। इनमें बीमारी का घातक प्रसार क्यों हुआ, इसकी जांच की जा रही है। वहीं, प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव 1513 मरीजों में से 60 फीसदी मरीज बिना लक्षण वाले हैं। इन्हें छींक तक नहीं आई लेकिन वे संक्रमित के संपर्क में आने से पॉजिटिव हो गए। हालांकि, शहर के 80 फीसदी पर बीमारी का ज्यादा असर नहीं हुआ। इंदौर में मरीजों की औसत आयु 57 साल के आसपास है।

4 नए मरीजों की मौत

बता दें कि गुरुवार देर रात जारी बुलेटिन में इंदौर में 4 नए मरीजों की मौत की पुष्टि की गई है। इन्हें मिलाकर अब तक मौत का आंकड़ा 72 पर पहुंच गया है। राहत की बात ये भी है कि 250 से ज्यादा मरीज ठीक होकर घर भी लौट चुके हैं। सीएमएचओ डॉ। प्रवीण जडिय़ा के मुताबिक जो मरीज पॉजिटिव मिले हैं, उनमें से लगभग सभी क्वारंटाइन सेंटर्स में हैं। जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग सभी सेंटर्स पर निगरानी रख रहा है।

Next Story
Share it
Top