Top
undefined

मंत्री मिश्रा बोले- इंदौर को वुहान कहने वाले दिल्ली और मुंबई का हाल देखें, यहां का रिकवरी रेट 74 फीसदी हुआ

मंत्री मिश्रा बोले- इंदौर को वुहान कहने वाले दिल्ली और मुंबई का हाल देखें, यहां का रिकवरी रेट 74 फीसदी हुआ
X

इंदौर. गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा गुरुवार को अचानक इंदौर पहुंचे। वे सीधे अरबिंदो अस्पताल पहुंचे। यहां पीपीई किट पहनकर कोविड वार्ड में दाखिल हुए। उनके साथ जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट भी वार्ड में पहुंचे। गृहमंत्री ने यहां पूरे वार्ड का निरीक्षण किया और कोराेना मरीजों से बात कर इलाज के साथ अन्य संबंधित जानकारी ली। उन्होंने कहा कि सरकार आपके साथ है। आप निश्चिंत होकर इलाज करवाएं। किसी प्रकार से घबराने की जरूरत नहीं है। उन्हाेंने इंदौर को वुहान कहने वालों को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि वे पहले दिल्ली और मुंबई के हाल देखें।

मिश्रा ने 24 घंटे में जांच रिपोर्ट आने की बात कही

गृहमंत्री ने कहा कि जो कह रहे थे कि इंदौर चीन के वुहान जैसा हो गया, उन्हें मैं संदेश देना चाहता हूं कि इंदौर, मुंंबई और दिल्ली में करीब-करीब काेरोना का संक्रमण साथ में शुरू हुआ था। अब तीनों की तुलना करने पर आपको खुद ही फर्क समझ आएगा। मैं कोई भाजपा सरकार की तारीफ नहीं कर रहा हूं, लेकिन जहां-जहां भाजपा की सरकार है, हम कोराेना को नियंत्रण में करते चले जा रहे हैं। मैं आलोचना नहीं कर रहा हूं, लेकिन यह सही है कि आज दिल्ली में कोरोनो मरीजों के लिए बेड नहीं हैं, आईसीयू और वेंटीलेटर की उतनी व्यवस्था नहीं है। दिल्ली में रहने वाले हमारे प्रदेश के लोग अब लौटकर यहां आ रहे हैं। दिल्ली जैसे हाल मुंंबई के भी हैं।

यहां के सीएम शिवराज सिंह ने इस लेकर 210 घंटे से ज्यादा बैठक ली। इंदौर में अब रिकवरी रेट 74 फीसदी हो गई है। वहीं, प्रदेश में रिकवरी रेट 78 फीसदी हो चुकी है। आज मैंने आदेश दिए हैं कि जांच रिपोर्ट 24 घंटे में आ जानी चाहिए, जिससे मरीज का जल्द से जल्द इलाज शुरू हो सके।

यहां लक्ष्मी, दुर्गा की पूजा होती है

पूर्व मंत्री जीतू पटवारी के पांच पुत्री वाले ट्वीट बयान को लेकर कहा कि मैं उस ट्वीट से काफी आहत हुआ। यहां शक्ति के रूप में दुर्गा जी की पूजा होती है, पैसे के रूप में लक्ष्मी जी और विद्या के रूप में सरस्वती जी की पूजा होती है। इस प्रकार की टिप्पणी निंदनीय है। पटवारी ने प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया था कि पुत्र के चक्कर में 5 पुत्री पैदा हो गई, नोटबंदी, जीएसटी, महंगाई, बेरोजगारी, मंदी, पर अभी तक "विकास" पैदा नहीं हुआ। अरबिंदो प्रबंधन समेत डॉ. विनोद भंडारी ने से इलाज को लेकर गृहमंत्री को जानकारी दी। वे कोरोना महामारी को लेकर अधिकारियों से बैठक भी करेंगे। गृहमंत्री के साथ कलेक्टर, आईजी, सहित बड़ी संख्या में प्रशासनिक अधिकारी भी अस्पताल पहुंचे।

उज्जैन में भी पीपीई किट पहनकर मरीजों से मिले थे गृहमंत्री

इससे पहले 23 जून काे उज्जैन पहुंचे गृहमंत्री ने पीटीएस पहुंचकर काेराेना का इलाज करवा रहे मरीजों से मुलाकात की थी। मिश्रा का कहना है कि प्रदेश में कोरोना से डरने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि हमारे यहां रिकवरी रेट 78 फीसदी है। इसलिए डरने की नहीं, सावधानी रखने की जरूरत है। उन्हाेंने महाकालेश्वर के दर्शन करने के बाद कहा था कि कोरोना हो भी जाए तो सरकार ने इलाज की नि:शुल्क व्यवस्था की है। उन्होंने कहा यदि कोई बीमार हो जाए तो उसे भाई देखने नहीं जाएगा तो कौन जाएगा। इसलिए मैं पीटीएस में मरीजों को देखने गया था।

Next Story
Share it
Top