Top
undefined

पत्नी परफेक्ट हो तब भी मर्द दूसरी जगह सुकून तलाशते हैं: संगीता बिजलानी

पत्नी परफेक्ट हो तब भी मर्द दूसरी जगह सुकून तलाशते हैं: संगीता बिजलानी
X

संगीता बिजलानी की प्रफेशनल से ज्यादा पर्सनल लाइफ हमेशा लाइमलाइट में रही है। सच्चे प्यार की तलाश, शादी और धोखा मिलने से टूटे दिल ने संगीता की रिलेशनशिप को लेकर सोच को बदल दिया।

संगीता बिजलानी ने अपने जिंदगी में दो बार दिल से प्यार को गले लगाया, लेकिन दोनों ही लव स्टोरी का एंड ऐसा हुआ, जिसने उन्हें दर्द के सिवा कुछ नहीं दिया। सलमान खान से उनकी शादी तक होने वाली थी, लेकिन ऐन वक्त पर संगीता को उनके धोखे और अफेयर के बारे में पता चल गया, जिसके बाद उन्होंने रिश्ता तोड़ लिया।

इसके बाद संगीता को शादीशुदा क्रिकेटर मोहम्मद अजहरुद्दीन में अपने जीवनसाथी बनने के गुण दिखे और दोनों ने एक-दूसरे को अपना बना लिया। लेकिन ये शादी भी करीब 13 साल बाद टूट गई। कहा जाता है कि, अजहर का एक बैडमिनटन प्लेयर से अफेयर चल रहा था, जिसके बाद संगीता ने राहें अलग करने का फैसला लिया।

दो बार प्यार और दोनों बार धोखे के कारण दिल टूटने पर संगीता की शादी को लेकर सोच बदल गई। तलाक के बाद ऐक्ट्रेस ने रिलेशनशिप को लेकर एक ब्लॉग लिखा था, जिसमें उन्होंने शादीशुदा जिंदगी के 'कड़वे सच' को बयां किया था। संगीता ने रिलेशनशिप पर लिखे अपने इस पर्सनल ब्लॉग को 'Married But not in the Marriage' का टाइटल दिया था।

फिल्मों की तरह नहीं होती शादीशुदा जिंदगी

संगीता बिजलानी ने अपने ब्लॉग की शुरुआत में ही इस बात को हाईलाइट किया था कि असली शादीशुदा जिंदगी, फिल्मों की कहानी जैसी नहीं होती। उन्होंने मॉर्डन मैरेज के कॉन्सेप्ट पर अपनी राय जाहिर करते हुए कहा था कि 'आजकल के कपल्स रिश्ते में सिर्फ प्यार नहीं चाहते, बल्कि वे अपने होने वाली साथी में फिजिकल और इमोशनल कनेक्शन के साथ ही,आर्थिक स्थिरता, पारिवारिक मूल्यों, सामाजिक स्वीकृति जैसी चीजों को भी तलाशते हैं'। संगीता ने लिखा था कि पहले की शादियों के मुकाबले मॉर्डन मैरेज को संभालना ज्यादा मुश्किल हो चुका है।

पति, पत्नी और वो

संगीता ने विवाहेतर संबंध के बारे में भी ब्लॉग में अपनी राय लिखी थी। उन्होंने लिखा था कि अगर व्यक्ति को 'अपने साथी में वो सारी चीजें मिल भी जाएं, जिसकी उसे चाह हो' तब भी वह संतुष्टि और सुकून के लिए बाहर दूसरे ऑप्शन तलाशता है। इसी के बाद शादी में 'पति, पत्नी और वो की कहानी' शुरू हो जाती है। संगीता ने लिखा था कि अफेयर का व्यक्ति के 'सामाजिक-आर्थिक पृष्ठभूमि से कोई लेना देना नहीं है'। उनकी यह भी राय थी कि पहले भी शादीशुदा कपल्स के बीच ऐसी स्थितियां आती ही थीं, बस फर्क इतना है कि आजकल के लोग उसे चुपचाप छिपाने की जगह उस पर बात करने लगे हैं।

मर्द ही नहीं, औरतें भी देती हैं धोखा

संगीता बिजलानी ने इस बात पर जोर दिया था कि शादीशुदा जिंदगी में धोखा सिर्फ मर्द ही नहीं बल्कि औरतें भी देती हैं, जिसके पीछे की वजह कुछ भी हो सकती है। उनके मुताबिक, ऐसे कई कपल्स हैं, जिनकी शादी बिल्कुल परफेक्ट थी, लेकिन उन्हें एक दिन अपने साथी के अफेयर के बारे में पता चला और उसके मन में बस एक ही सवाल आया 'क्यों?' संगीता ने लिखा था कि अफेयर के पीछे कोई एक कारण नहीं होता है।

'अपनी कमियों को दूर करने की जगह मर्द दूसरी जगह खुशी तलाशते हैं'

मॉडल और ऐक्ट्रेस संगीता ने अपने ब्लॉग में महिलाओं पर 'पति को खुश करने' के लिए डाले जाने वाले दबाव पर भी बात की थी। उन्होंने कहा था कि 'पति को खुश रखो, तो वो यहां-वहां भटकेगा नहीं' जैसी सोच महिलाओं पर दबाव बनाती हैं। संगीता के मुताबिक, पत्नी परफेक्ट भी हो, तब भी पति धोखा दे सकता है। उन्होंने इस बात को उठाया था कि मर्द 'अपने अंदर की कमी को दूर करने और रिश्ते पर काम करने की जगह, दूसरी जगह सुकून तलाशते हैं'।

यह कपल पर निर्भर करता है वे रिश्ते को कैसे संभालें

संगीता ने अंत में लिखा था कि यह कपल पर निर्भर करता है कि वह धोखा मिलने के बाद अपने रिश्ते को लेकर क्या फैसला ले। कुछ कपल्स अलग होने के फैसला लेते हैं, तो कुछ माफी मांगकर अपने रिश्तों की कमियों को दूर करते हुए शादी को आगे बढ़ाते हैं। संगीता ने यह भी लिखा था कि, चाहे शादी के मायने कितने ही बदल गए हों, लेकिन इसके बावजूद उन्हें 'शादी एक शानदार अनुभव' लगती है।

Next Story
Share it