Top
undefined

कोरोना से जंग: मीटिंग से लेकर ग्राउंड जीरो तक... यूं ऐक्टिव हैं योगी आदित्यनाथ

कोरोना से जंग: मीटिंग से लेकर ग्राउंड जीरो तक... यूं ऐक्टिव हैं योगी आदित्यनाथ
X

लखनऊ . कोरोना वायरस से पूरी दुनिया जंग लड़ रही है। भारत में कोरोना तेजी से पैर पसार रहा है। इससे निपटने के लिए राज्य सरकारें भी अपने-अपने स्तर से तमाम कोशिशें कर रही हैं लेकिन उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के काम करने का तरीका बाकियों से थोड़ा अलग है। योगी इन दिनों मीटिंग टेबल से लेकर ग्राउंड लेवल पर भी ऐक्टिव नजर आ रहे हैं। पिछले कई दिनों से वह अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे हैं तो ग्राउंड जीरो से व्यवस्था का जायजा भी ले रहे हैं। अधिकारियों के सामने सख्त तेवर भी दिखा रहे हैं और लापरवाही पर फटकार भी लगा रहे हैं।

योगी आदित्यनाथ ने कोरोना से जंग में मजदूरों का खास ख्याल रखा। श्रमिक भरण-पोषण योजना की शुरुआत की। उन्होंने 20 लाख से अधिक मजदूरों के खाते में 1 हजार रुपये की पहली किस्त भी भेजी। इसी के साथ 27.5 लाख मनरेगा मजदूरों के खाते में 611 करोड़ रुपये ट्रांसफर किए। इसके अलावा खाने-पीने की दिक्कत न हो इसके लिए राहत पैकेज का ऐलान किया। श्रमिकों को नि:शुल्क राशन उपलब्ध कराया जा रहा है। इसके तहत 20 किलो गेंहू और 15 किलो चावल की व्यवस्था की गई है।

पुरानी परंपरा तोड़ी, अधिकारी को लगाई फटकार

अपने कार्यकाल की शुरुआत में योगी आदित्यनाथ ने एक परंपरा तोड़ी है। यूपी के पिछले दोनों मुख्यमंत्री (अखिलेश व मायावती) अपने कार्यकाल के दौरान अंधविश्वास की वजह से कभी नोएडा नहीं गए लेकिन योगी नोएडा का दौरा करते दिखे। सोमवार को योगी नोएडा भी गए और हवाई सर्वेक्षण किया। वहां के डीएम को फटकार भी लगाई। योगी आदित्यनाथ सोशल मीडिया के जरिए बराबर नजर रख रहे हैं। साथ ही लोगों से लॉकडाउन के पालन का आग्रह कर रहे हैं।

मजदूरों के लिए बसें उपलब्ध कराईं

कोरोना से निपटने के लिए पूरे देश में लॉकडाउन की घोषणा की गई जिसके बाद हजारों की संख्या में दिल्ली से मजदूर यमुना एक्सप्रेस वे और मेरठ हाइवे के जरिए अपने-अपने गांव को जाने के लिए पैदल निकल पड़े। आनन-फानन में योगी ने मजदूरों को उनके घर पहुंचाने के लिए 1 हजार से अधिक बसों का इंतजाम किया। पिछले हफ्ते शुक्रवार और शनिवार रात भर बसों से लोगों को उनके जिले पहुंचाया जाता रहा। इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद इसकी मॉनिटरिंग भी करते रहे।

मजदूरों से खुद मिलने पहुंचे योगी

योगी आदित्यनाथ बसों के संचालन को देखने और यात्रियों का हालचाल लेने के लिए लखनऊ के अवध चौराहे पर पहुंच गए और यात्रियों से बात की। ये यात्री बसों कानपुर, गोरखपुर, बस्ती और फैजाबाद की ओर जा रहे थे। यात्री दिल्ली के आनंद बिहार से लखनऊ पहुंचे थे। भीड़ अधिक होने से काफी देर तक अफरा-तफरी मची रही। इस दौरान वहां मौजूद अधिकारी यात्रियों से शांत रहने की अपील करते रहे और उन्हें साधन मिलने का भरोसा दिलाया था।

लॉकडाउन के कड़ाई से पालन के लिए 11 कमिटी

योगी आदित्यनाथ ने पिछले दिनों लखनऊ स्थित पीजीआई अस्पताल का दौरा किया। जहां कोरोना मरीजों का इलाज चल रहा है। सीएम ने कोरोना से जंग में अपनी 11 प्रमुख टीम उतारी है। लॉकडाउन को सफल बनाने के लिए यूपी सरकार ने 11 समितियां बनाई हैं, जिसमें सरकार के करीब दो दर्जन वरिष्ठ अधिकारी शामिल हैं। इनकी निगरानी खुद मुख्यमंत्री खुद कर रहे हैं।

चार बड़े होटल को बनाया क्वारंटाइन सेंटर

यूपी में बाहर से आने वाले मजदूरों को बाहर से आ रहे हैं उनको क्वारंटाइन करने के लिए सरकार गांव और कस्बों के प्राइमरी स्कूल- इंटर काॅलेजों में सेंटर बना रही है। इसके अलावा लखनऊ में आरएमएल और पीजीआई हाॅस्पिटल के डॉक्टरों और मेडिकल स्टाफ को क्वारंटाइन करने के लिए प्रशासन ने लखनऊ के चार बड़े होटल (होटल हयात, मैरियट फेयरफील्ड, होटल लेमन ट्री और होटल पिकैडली) का अस्थायी अधिग्रहण किया है।

कम्यूनिटी किचन खुलवाईं, खुद किया रिऐलिटी चेक

योगी आदित्यनाथ ने लॉकडाउन के दौरान फंसे जरूरतमंदों और गरीबों तक खाना पहुंचाने के लिए 527 कम्यूनिटी किचन शुरू कराईं। कम्यूनिटी किचन में व्यवस्था देखने और क्वॉलिटी चेक करने के लिए सीएम योगी खुद लखनऊ स्थित एक कम्यूनिटी किचन गए। योगी सरकार की ओर से ससामाजिक और धार्मिक संगठनों से इनमें सहयोग का आग्रह किया गया है। प्रदेश के सभी जनपदों में 18,772 वाहनों के माध्यम से नागरिकों को फल और सब्जी उपलब्ध कराई जा रही है।

यूपी पुलिस ने सख्ती भी दिखाई, नरमी भी

लाॅकडाउन के दौरान योगी की यूपी पुलिस भी मिसाल की तरह पेश आई। एक तरफ नियम तोड़ने वालों पर कड़ी कार्रवाई की तो दूसरी ओर जरूरतमंदों और गरीबों को खाना खिला रहे हैं। सरकार द्वारा बनाया गया 112 हेल्पलाइन नंबर के जरिए भी लोगों की मदद की जा रही है। पुलिस लोगों के घर पर जरूरी सामान पहुंचा रही है।

Next Story
Share it
Top