Top
undefined

उत्तर प्रदेश : तीन संतानों को कुएं में फेंककर मां भी कूदी, पानी कम था, तो भीतर ही लगा ली फांसी

एक ही परिवार के चार लोगों की मौत, खाना अच्छा नहीं बनाने पर पति-पत्नी में होता था विवाद

उत्तर प्रदेश : तीन संतानों को कुएं में फेंककर मां भी कूदी, पानी कम था, तो भीतर ही लगा ली फांसी
X

अमरेली . रसोई अच्छी न बन पाने के कारण पति-पत्नी के बीच अक्सर विवाद होते रहता था। इस विवाद ने अचानक की विकराल रूप धारण कर लिया। तब मां ने अपने 3 संतानों को एक कुएं में फेंक दिया, फिर खुद छलांग लगा दी। कुएं में पानी कम था, इसलिए वह बच गई, पर उसने हार न मानकर वहीं फांसी लगाकर अपनी जान दे दी।

बच्चों-मां की गुमशुदगी की रिपोर्ट

विसणिया गांव के किसान बुधाभाई उर्फ मंगल वालाभाई शियाण की पत्नी हंसा बेन के बीच 6 अप्रैल की दोपहर रसोई को लेकर विवाद हुआ, जिससे वह बच्चों के साथ कहीं चली गई। इसकी रिपोर्ट थाने में की गई। इधर हंसा बेन अपनी तीन संतानों बेटी आरती (7), बेटा कौशिक (5) और बेटे हितेश (3) को लेकर गांव से दूर बुधाभाई मुलुभाई लाखणोत्रा के खेत के कुएं में अपनी संतानों को फेंक दिया। उसके बाद खुद भी कुएं में छलांग लगा दी। पर पानी कम था, इसलिए संतानें तो डूब गई, पर वह नहीं डूब पाई। इसके बाद भी हंसा बेन ने हिम्मत नहीं हारी। उसने अपनी साड़ी से रस्सी बनाकर फांसी लगा ली। इससे कुएं के अंदर चार लोगों की मौत हो गई। पुलिस ने चारों के शवों को निकालकर मामले की जांच शुरू कर दी है।

विधायक घटनास्थल पहुंचे

सूचना मिलते ही डीवायएसपी कुशल ओझा समेत पुलिस बल घटनास्थल पर पहुंच गया। इसके अलावा पूर्व संसदीय सचिव हीरा सोलंकी, विधायक अंबरीश डेर भी पहुंचे। लॉकडाउन के दौरान हुई इस घटना को लेकर तरह-तरह की चर्चाएं चल रही हैं। वहीं एक ही परिवार के चार सदस्यों की मौत से पूरे गांव में शोक व्याप्त है।

Next Story
Share it
Top