Top
undefined

सीआरपीएफ कैंप में जवान ने पत्नी-दो बच्चों की गोली मारकर हत्या की, फांसी लगाकर की खुदकुशी

सीआरपीएफ कैंप में जवान ने पत्नी-दो बच्चों की गोली मारकर हत्या की, फांसी लगाकर की खुदकुशी
X

प्रयागराज. उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में पिछले कुछ दिनों से लगातार हत्या की वारदातें सामने आ रही हैं। इस बीच जिले के थरवई थानान्तर्गत सीआरपीएफ केंद्र पडिला में एक सीआरपीएफ जवान ने अपनी पत्नी और दो बच्चो को गोली मार कर हत्या कर दी और उसके बाद फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। इस सनसनीखेज घटना से पूरे सीआरपीएफ कैम्प में हड़कम्प मचा है। घटना के पीछे घरेलू कलह बताई जा रही है। थरवई थानाक्षेत्र में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल का ग्रुप सेंटर हैं। प्रयागराज में इस घटना की जानकारी होने पर सीआरपीएफ के जवानों में खलबली मच गई।

सीआरपीएफ में ड्राइवर था विनोद

ग्रुप सेंटर में ही रहने वाले 224 बटालियन में ड्राइवर के पद पर तैनात 40 साल के विनोद कुमार यादव प्रयागराज जनपद के ही मेजा तहसील के सिरसा इलाके का रहने वाला था। वह सीआरपीएफ ग्रुप सेंटर पडिला परिसर में बने टाइप टू आवास में मिले कमरा नंबर 1127 में परिवार सहित रहता था। उसने शनिवार भोर में करीब 3 बजे पत्नी विमला के साथ 15 वर्षीय बेटे संदीप और बेटी 12 वर्षीय सिमरन को गोली मार दी। गोली लगने से पत्नी और बच्चों की मौत के बाद उसने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। इससे चारों की मौत हो गई।

सुबह सूचना पाकर सीआरपीएफ और जिले के आला पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच गए और मामले की जांच कर रहे हैं। थानाध्यक्ष थरवई भुवनेश चौबे ने बताया कि प्रारंभिक जांच में मामला पारिवारिक कलह माना जा रहा है। इसके साथ ही विनोद कुमार यादव के साथियों से पूछताछ की जा रही है। सभी के शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है। सीआरपीएफ के जवान के घरवालों को सूचना भेज दी गई है। मौके से मिले रिवाल्वर को पुलिस ने कब्जे में ले लिया है अभी तक की तफ्तीश में यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि वह लाइसेंसी है अथवा गैर लाइसेंसी। पुलिस ने फोरेंसिक टीम डॉग स्क्वायड को बुलाकर मौके की जांच पड़ताल कराई है।

Next Story
Share it
Top