Top
undefined

मध्यप्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन की हालत नाजुक, वेंटिलेटर सपोर्ट पर चल रहा इलाज

मध्यप्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन की हालत नाजुक, वेंटिलेटर सपोर्ट पर चल रहा इलाज
X

लखनऊ। मध्य प्रदेश के राज्यपाल और लखनऊ के पूर्व सांसद लालजी टंडन की हालत में 40 दिन बाद भी कोई सुधार नहीं आया है। उन्हें 11 जून को लखनऊ के मेदांता हॉस्पिटल में भर्ती किया गया था। सोमवार की शाम हॉस्पिटल द्वारा जारी बुलेटिन में बताया गया कि, लालजी टंडन की हालत क्रिटिकल है। वे अभी वेंटिलेटर की सपोर्ट पर हैं। एक्सपर्ट टीम उनके बेहतर इलाज के लिए निरंतर प्रयत्नशील है। रविवार को पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनकड़ मेदांता अस्पताल पहुंचकर टंडन के स्वास्थ्य की जानकारी ली थी।

सांस लेने में दिक्कत पर किया गया था भर्ती

लालजी टंडन को जून के शुरूआती दिनों में पेशाब में दिक्कत, सांस लेने में दिक्कत और हलके बुखार के बाद मेदान्ता हॉस्पिटल में 11 जून को भर्ती कराया गया था। उनका कोरोना टेस्ट भी भी निगेटिव था, जबकि 14 जून को उनका इमरजेंसी ऑपरेशन किया गया था। मेदांता हॉस्पिटल के डायरेक्टर डॉ राकेश कपूर ने बताया कि जांच के दौरान राज्यपाल के लिवर में दिक्कत पाए जाने पर सीटी गाइडेड प्रोसीजर किया गया था। प्रोसीजर के बाद पेट में रक्त स्राव बढ़ गया था जिसके बाद उनका ऑपरेशन करना पड़ा था। ऑपरेशन के बाद उन्हें आईसीयू में रखा गया था।

आनंदी पटेल को मिला था मध्यप्रदेश का अतिरिक्त भार

लालजी जी टंडन की हालत में सुधार न होता देख केंद्र सरकार ने यूपी की राज्यपाल आनंदी पटेल को मध्यप्रदेश का अतिरिक्त कार्यभार सौंपा था। आपको बता दे कि लालजी टंडन 10 दिनों की छुट्टी पर लखनऊ आए हुए थे। यहीं उनकी तबियत खराब हुई।

12 साल की उम्र में जुड़ गए थे संघ से

लालजी टंडन 12 साल की उम्र से ही संघ की शाखाओं में जाया करते थे। संघ से जुडाव के चलते ही उनकी मुलाकात अटल बिहारी बाजपेयी से हुई थी। बाद में जब अटल ने लखनऊ की सीट छोड़ी तो बतौर विरासत लालजी टंडन को यह सीट सौंपी गयी। 2009 में लालजी टंडन ने लोकसभा का चुनाव जीता और लखनऊ के सांसद बने।

1960 से शुरू हुआ लालजी टंडन का राजनितिक सफर

1960 से लालजी टंडन का राजनैतिक सफर शुरू हुआ था। लालजी टंडन 2 बार पार्षद और दो बार विधान परिषद के सदस्य रहे। इसके बाद लगातार वह तीन बार विधायक भी रहे हैं। लालजी टंडन कल्याण सिंह सरकार में मंत्री भी रहे हैं। साथ ही यूपी विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष भी रहे हैं।

Next Story
Share it
Top