Top
undefined

अयोध्या तैयार, बस मेहमानों का इंतजार-कल पूरी दुनिया देखेगी राम मंदिर भूमि पूजन का लाइव टेलीकास्ट

अयोध्या तैयार, बस मेहमानों का इंतजार-कल पूरी दुनिया देखेगी राम मंदिर भूमि पूजन का लाइव टेलीकास्ट
X

अयोध्या। अयोध्या में राम जन्मभूमि निर्माण के लिए भूमि पूजन से पहले ही धार्मिक गतिविधियां शुरू हो गई हैं। अयोध्या में हर जगह बैरीकेड लगा दिए गए हैं। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपील की है कि अयोध्या में बुधवार को होने वाले भूमि-पूजन समारोह में सिर्फ वही लोग आएं, जिन्हें आमंत्रित किया गया है। वहीं पूरी अयोध्या को दुल्हन की तरह सजाया गया है। अयोध्या के चप्पे-चप्पे को सजाया गया है। सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं और साथ ही कोरोना संकट के कारण नियमों का ख्याल भी रखा जा रहा है। पीएम मोदी बुधवार सुबह अयोध्या पहुंचेंगे। वहीं कई मेहमान आज आएंगे।

भूमि पूजन में 175 प्रतिष्ठित अतिथियों को निमंत्रण

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने सोमवार को कहा कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए होने वाले भूमि पूजन कार्यक्रम के लिए 175 प्रतिष्ठित अतिथियों को आमंत्रित किया गया है। ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने कहा कि निमंत्रण सूची भाजपा के वरिष्ठ नेताओं लाल कृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी के अलावा वरिष्ठ वकील के परासरन एवं अन्य गणमान्य व्यक्तियों के साथ ''निजी तौर पर चर्चा'' करके तैयार की गई है। उन्होंने कहा कि मुख्य समारोह के लिए आमंत्रित किए गए 175 प्रतिष्ठित अतिथियों में से 135 संत हैं जो विभिन्न आध्यात्मिक परंपराओं से जुड़े हुए हैं और वे सभी उपस्थित रहेंगे।

इनके अलावा शहर के भी कुछ गणमान्य व्यक्तियों को आमंत्रित किया गया है। राय ने कहा कि विहिप के दिवंगत नेता अशोक सिंघल के भतीजे सलिल सिंघल कार्यक्रम में ''यजमान'' होंगे। साथ ही नेपाल के संतों को भी आमंत्रित किया गया है क्योंकि जनकपुर का बिहार, उत्तर प्रदेश और अयोध्या से भी संबंध है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार एक डाक टिकट भी जारी करेगी जोकि मंदिर के डिजाइन पर आधारित है। राय के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी परिसर में ''पारिजात'' का पौधा भी लगाएंगे।

दिग्गज नहीं आएंगे भूमि पूजन पर

भूमि पूजन एवं शिलान्यास कार्यक्रम में मंदिर आंदोलन से जुड़े कई बड़े चेहरे नजर नहीं आएंगे। पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी,डा मुरली मनोहर जोशी और उमा भारती के बाद पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह ने भी ऐतिहासिक कार्यक्रम में भाग नहीं लेने का फैसला किया है। श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया कि कोरोना वायरस की वजह से कई बुजुर्ग नेताओं को भूमि पूजन कार्यक्रम में वर्चुअली भाग लेने को कहा गया है। आडवाणी की आयु 90 साल से अधिक है। वह कैसे आ सकते हैं। कई अन्य महान हस्तियों की भी आयु को देखते हुए नहीं बुलाया गया है। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत, सह कार्यवाह भैया जी जोशी समेत अन्य मेहमान मंगलवार रात तक अयोध्या पहुंच जाएंगे।

दुनिया देखेगी राम मंदिर भूमि पूजन

योगी आदित्यनाथ ने इस आयोजन को 'ऐतिहासिक' बताया। उन्होंने कहा कि यह न सिर्फ ऐतिहासिक है बल्कि भावनात्मक पल भी है क्योंकि 500 साल के बाद राम मंदिर निर्माण कार्य शुरू हो रहा है। यह नए भारत की नींव होगी। वहीं कार्यक्रम का दूरदर्शन पर साीधा प्रसारण होगा। देश-विदेश में बैठे लोग दूरदर्शन के जरिए भूमि पूजन को लाइव देख सकेंगे। इस ऐतिहासिक पल के कई लोग साक्षी बनेंगे।

Next Story
Share it
Top