Top
undefined

अस्पताल से छुट्टी के लिए रिश्वत की मांग मामले में एएनएम निलंबित

अस्पताल से छुट्टी के लिए रिश्वत की मांग मामले में एएनएम निलंबित
X

बलिया। जिले के नरही स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में एक व्यक्ति द्वारा अपनी पत्नी और नवजात बच्ची को अस्पताल से छुट्टी दिलाने के लिये मजबूरन मंगलसूत्र बेचने सम्बन्धी मामले में स्वास्थ्य विभाग ने दोषी एएनएम को शुक्रवार को निलंबित कर दिया।

अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ राजनाथ ने बताया कि नरही सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सा अधीक्षक की रिपोर्ट पर एएनएम पुष्पा राय को निलंबित कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि इस मामले में विभागीय जांच के आदेश भी दिए गए हैं। नरही सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सा अधीक्षक डॉ साकेत बिहारी ने शुक्रवार को अपनी एक रिपोर्ट मुख्य चिकित्सा अधिकारी को भेजी है।

उन्होंने रिपोर्ट में उल्लेख किया है कि गर्भवती रानी (22) अस्पताल में 12 अगस्त को भर्ती हुई थी और 13 अगस्त को प्रसव हुआ। उसने स्वस्थ बच्ची को जन्म दिया। महिला के पति बबलू गिरि ने बताया कि उसने दो हजार रुपये दिए थे। ढाई हजार रुपये और की मांग की गई, जिसे पूरा न करने के कारण अस्पताल से छुट्टी नहीं देने की बात कही गयी । जिसके बाद पत्नी का मंगलसूत्र बेचकर उसने यह रकम चुकायी।

जिले के फेफना विधानसभा क्षेत्र स्थित नरही सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का एक वीडियो सोशल मीडिया पर बृहस्पतिवार को वायरल हुआ है। वायरल वीडियो में इटही गांव का निवासी बबलू गिरि यह कहता नजर आया कि स्वास्थ्य केंद्र में उसने अपनी पत्नी को प्रसव के लिये भर्ती कराया था।

बबलू ने बताया कि एएनएम पुष्पा राय ने पत्नी को भर्ती करते वक्त ही उससे दो हजार रुपये वसूल लिये थे। प्रसव के बाद एएनएम ढ़ाई हजार रुपये और मांग रही है। इस अवैध वसूली के लिए उसकी पत्नी और नवजात बच्ची को अस्पताल में बंधक बनाकर रखा गया है। परेशान होकर उसने अपनी पत्नी का मंगलसूत्र पांच हजार रुपये में बेचकर एएनएम की मांग पूरी की।

Next Story
Share it
Top