Top
undefined

कोरोना से ठीक होने के बाद फरीदाबाद रवाना हुए स्वामी अड़गड़ानंद, आश्रम में हाल पूछने वालों की लग रही थी भीड़

कोरोना से ठीक होने के बाद फरीदाबाद रवाना हुए स्वामी अड़गड़ानंद, आश्रम में हाल पूछने वालों की लग रही थी भीड़
X

मिर्जापुर। कोरोना संक्रमण की जंग जीत तक चुनार स्थित अपने आश्रम में लौटने के बाद अब स्‍वामी अड़गड़ानंद अपने आश्रम में भक्‍तों की आने वाली भीड़ का देखते हुए कुछ दिन हरियाणा स्थित अपने आश्रम के लिए रविवार दोपहर रवाना हाे गए। इस बाबत आश्रम की ओर से बताया गया कि मिर्जापुर के आश्रम में बाबा को कुशलक्षेम पूछने वाले भक्‍तों के नियमित आने से काफी समस्‍या का सामना करना पड़ रहा है।

कोरोना संक्रमित होने के बाद स्‍वामी अड़गड़ानंद को वाराणसी स्थित एक निजी अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था। ठीक होने के बाद चिकित्‍सकों की सलाह पर वह मीरजापुर स्थित चुनार आश्रम लौट गए थे। डाक्‍टरों ने उनको आश्रम में ही लोगों से दूर रहकर आराम करने की सलाह दी गई थी।

हालांकि उनके भक्‍तों को बाबा के आश्रम आने की जानकारी होने के बाद लोगों के आने का सिलसिला शुरु हो गया। इसके कारण स्‍वामी अड़गड़ानंद को आराम करने का मौका नहीं मिल पा रहा था। इसकी वजह से आश्रम प्रबंधन ने उनको कुछ दिनों के लिए फरीदाबाद स्थित आश्रम में भेजने का फैसला लिया है।

स्वामी अड़गड़ानंद को एक विशेष चार्टर विमान से लाल बहादुर शस्‍त्री अंतरराष्‍ट्रीय एयरपोर्ट बाबतपुर वाराणसी से नई दिल्ली दोपहर एक बजे भेजा गया। रविवार को हालांकि तय समय से दो घंटे विलंब से चार्टर विमान एयरपोर्ट पर पहुंचा तो स्‍वामी अड़गड़ानंद व उनके सहयोगी रवाना हो गए।

पीएम मोदी और सीएम योगी ने भी की थी स्वामी जी से बातचीत

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी शुक्रवार को परमहंस स्वामी अगड़गड़ानंद महाराज से फोन पर बात की और उनका हालचाल जाना। उन्होंने बेहतर इलाज का आश्वासन दिया। इसके बाद बीएचयू के डॉक्टर के साथ डीएम और सीएमओ अस्पताल पहुंचे। महाराजजी के स्वास्थ्य की रूटीन जांच की गई। इसके एक दिन बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने फोन कर स्वामी जी का हाल पूछा था।

दरअसल, स्वामी अड़गड़ानंद एक संत हैं। उन्होंने "यथार्थ गीता" को साधारण शब्दों में व्याख्यान किया है, जिसका प्रसार बहुत समय पहले भगवान श्री कृष्ण ने किया था। उनका मिर्जापुर जिले में चुनारा के शक्तिषगढ़ में आश्रम है। बीते बुधवार को उनकी तबियत खराब हुई थी। एंटीजन जांच में रिपोर्ट निगेटिव आई थी। बाद में दिक्कत बढ़ने पर लैब से जांच हुई तो रिपोर्ट पॉजिटिव आई। उनको पहले बुखार हुआ था, बाद में शरीर में दर्द की शिकायत हुई।

Next Story
Share it
Top