Top
undefined

हाथरस गैंगरेप: मामले की जांच या तो सीबीआई से कराई जाए या सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में जांच हो: मायावती

हाथरस गैंगरेप: मामले की जांच या तो सीबीआई से कराई जाए या सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में जांच हो: मायावती
X

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले में एक दलित युवती के साथ गैंगरेप का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा है। शनिवार को भीम आर्मी ने लखनऊ में विधानसभा के सामने कूड़ा डालकर विरोध दर्ज कराया तो दूसरी ओर बसपा सुप्रीमो मायावती ने फिर राज्य सरकार पर निशाना साधा। मायावती ने कहा कि मामले की जांच या तो सीबीआई से कराई जाए या सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में इसकी पूरी जांच हो।

मायावती ने शनिवार को ट्वीट कर कहा- हाथरस केस को लेकर पूरे देश में जबरदस्त आक्रोश है। इसकी शुरूआती जांच रिपोर्ट से जनता संतुष्ट नहीं लगती है। मामले की CBI से या फिर सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में जांच होनी चाहिए।

दूसरे ट्वीट में मायावती ने लिखा- देश के राष्ट्रपति यूपी से आते हैं। एक दलित होने के नाते भी इस केस में खासकर सरकार के अमानवीय रवैये को ध्यान में रखकर पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने के लिए दखल देने की भी उनसे अपील है।

घटना के विरोध में भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं ने विधानसभा के सामने कूड़ा डालकर प्रदर्शन किया। एक्टिवा गाड़ी पर कूड़े की बोरी के साथ आए कार्यकर्ता नारेबाजी करने लगे। यहां विधानसभा के बाहर खड़ी पुलिस ने तत्काल दो युवकों को हिरासत में ले लिया और विधानसभा के बाहर भी कूड़ा बटोर कर लेकर चले गए।

भीम आर्मी जिलाध्यक्ष अनिकेत धानुक अचानक सुबह 7 बजे एक्टिवा गाड़ी से विधानसभा के बाहर पहुंचे। यहां लोकभवन के मैन गेट और विधानसभा के गेट नम्बर चार के बाहर कूड़े की बोरी पलट दिया। बोरी में रखा कूड़ा सड़क पर बिखराने लगे। यह देख पुलिस की टीम भागते हुए आई। भीम आर्मी के कार्यकर्ता नारेबाजी करने लगे। पुलिस ने अनिकेत धानुक और उसके साथी को हिरासत में ले लिया और हजरतगंज थाने में ले गई।

Next Story
Share it
Top