Top
undefined

योगी ने की टीम-11 के साथ बैठक, कहा- कोरोना की चेन तोड़ना जरूरी, विधानसभा सत्र के दौरान बरतें विशेष सतर्कता

योगी ने की टीम-11 के साथ बैठक, कहा- कोरोना की चेन तोड़ना जरूरी, विधानसभा सत्र के दौरान बरतें विशेष सतर्कता
X

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोरोना का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है। यहां सक्रमण के मामले एक लाख से ज्यादा चले गए हैं। इस बीच योगी ने मंगलवार को टीम-11 की बैठक में कोविड-19 की समीक्षा की। योगी ने कहा कि कोविड-19 के संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए प्रत्येक स्तर पर सावधानी बरतना जरूरी है। कोरोना के संक्रमण के दृष्टिगत धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन घर में ही किया जाए। सार्वजनिक स्थानों पर कोई भी धार्मिक अथवा सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन नहीं किया जाए। साथ ही 20 अगस्त को शुरू हो रहे विधानसभा सत्र को लेकर भी विशेष सतर्कता बरती जाए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने आवास पर हुई बैठक में यह बातें कही। उन्होंने कहा है कि कोविड-19 की टेस्टिंग में वृद्धि का काम लगातार जारी रखा जाए। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 75 से 80 हजार रैपिड एन्टीजन टेस्ट तथा 40 से 45 हजार आरटीपीसीआर विधि से टेस्ट प्रतिदिन किए जाएं।

मुख्यमंत्री मंगलवार को अपने सरकारी आवास पर उच्च स्तरीय बैठक में अनलाॅक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कोविड-19 से सम्बन्धित पोर्टल को अद्यतन रखा जाए। इसे प्रतिदिन निरन्तर अपडेट किया जाए। उन्होंने कोविड-19 के दृष्टिगत राज्य विधान मण्डल के आगामी सत्र के दौरान विशेष सावधानी बरतने के निर्देश दिए हैं।

बरेली, गोरखपुर, प्रयागराज व बस्ती पर विशेष ध्यान दिया जाए

मुख्यमंत्री ने कहा कि बरेली, गोरखपुर, प्रयागराज तथा बस्ती पर विशेष ध्यान दिया जाए। लखनऊ तथा कानपुर नगर में कोविड-19 के मामलों को नियंत्रित करने तथा चिकित्सा व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए प्रभावी कदम उठाए जाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी जिलों में एएलएस तथा '108' एम्बुलेंस सेवाओं के 50 प्रतिशत वाहन कोविड-19 संक्रमितों के लिए उपयोग किए जाएं। प्रदेश में कोविड-19 से संक्रमित व्यक्तियों के उपचार के लिए आवश्यकतानुसार आईसीयू बेड्स की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए।

कोविड प्रोटोकाल के तहत चलेगा विधानसभा सत्र- विधानसभा अध्यक्ष

वहीं यूपी में 20 अगस्त से शुरू हो रहे विधानसभा सत्र को लेकर विधानसभा अध्यक्ष ने कहा है कि कोविड-19 महामारी के प्रोटोकाल के अनुसार ही सदन चलाया जाएगा। सदस्यों के बैठते समय सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखा जाएगा। हालांकि एक दिन पहले ही विधानसभा के 20 कर्मचारियों में कोरोना की पुष्टि हुई थी।

Next Story
Share it
Top