Top
undefined

हत्यारोपी भाजपा नेता की तलाश में पुलिस की 12 टीमें लगीं, 3 दिन बाद भी नहीं तलाश सकीं

हत्यारोपी भाजपा नेता की तलाश में पुलिस की 12 टीमें लगीं, 3 दिन बाद भी नहीं तलाश सकीं
X

बलिया। उत्तर प्रदेश के बलिया में दुर्जनपुर गांव में 3 दिन पहले सरकारी राशन की दुकान को लेकर ग्रामीण की हत्या के मामले में भाजपा नेता और मुख्य आरोपी धीरेंद्र सिंह अभी तक फरार है। उसकी तलाश में 12 टीमें लगी हैं। मऊ और आजमगढ़ की पुलिस को भी उसकी गिरफ्तारी में लगाया गया है। इस बीच चर्चा है कि धीरेंद्र सिंह सोमवार को कोर्ट में सरेंडर कर सकता है। उसने शनिवार को सरेंडर की अर्जी कोर्ट में दाखिल कराई है। मुख्य आरोपी पर पुलिस ने 50 हजार का इनाम घोषित किया है।

आरोपी की गिरफ्तारी तक बलिया में कैंप करेंगे डीआईजी

योगी सरकार ने डीआईजी आजमगढ़ सुभाष चंद्र दुबे को बलिया में ही कैंप करने का निर्देश दिए हैं। कहा गया है कि जब तक मुख्य आरोपी धीरेंद्र सिंह की गिरफ्तारी नहीं होती है तब तक वे वहीं रहेंगे। आजमगढ़ मंडल के कमिश्नर विश्वास पंत भी बलिया में मौजूद हैं।

करणी सेना कर सकती है प्रदर्शन

बलिया में गोलीकांड का मामला अब जातिगत होता जा रहा है। भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह ने जहां इसे क्षत्रिय बनाम यादव का मुद्दा बना दिया है। धीरेंद्र और उसके परिवार के समर्थन में पूर्व सैनिकों का संगठन भी आ गया है। करणी सेना भी आज प्रदर्शन कर सकती है।

यह है पूरा मामला

दुर्जनपुर में 15 अक्टूबर को पंचायत भवन पर कोटे की दुकान को लेकर बैठक चल रही थी। एसडीएम बैरिया सुरेश पाल, सीओ चंद्रकेश सिंह, बीडीओ गजेंद्र प्रताप सिंह और रेवती थाने का पुलिसबल भी मौजूद थी। आरोप है कि इसी दौरान विवाद होने पर धीरेंद्र सिंह ने जयप्रकाश पाल की हत्या कर दी। इसके बाद वह भाग निकला था।

मामले में एसडीएम और सीओ को निलंबित भी कर दिया गया था। डीआईजी आजमगढ़ ने आरोपियों पर 50 हजार रुपए इनाम की घोषणा भी की है। सभी आरोपियों पर गैंगस्टर और एनएसए के तहत कार्रवाई की भी बात कही है।

Next Story
Share it
Top