Top
undefined

कोरोना से यूपी के दूसरे मंत्री की मौत:चेतन चौहान ने लोकसभा चुनाव हारने के 13 साल बाद विधानसभा चुनाव लड़ा था, जीतने के बाद योगी मंत्रिमंडल में मिली थी जगह

कोरोना से यूपी के दूसरे मंत्री की मौत:चेतन चौहान ने लोकसभा चुनाव हारने के 13 साल बाद विधानसभा चुनाव लड़ा था, जीतने के बाद योगी मंत्रिमंडल में मिली थी जगह
X

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण का कहर तेजी से फैलता जा हरा है। कुछ दिनों पहले ही यूपी सरकार की मंत्री कमल वरुण रानी का निधन कोरोना की वजह से हो गया था। उसके बाद अब यूपी में दूसरे मंत्री चेतन चौहान की कोरोना से मौत हुई है। पीएम नरेंद्र मोदी और अमित शाह के करीबी माने जाने वाले पूर्व क्रिकेटर चेतन चौहान 13 साल बाद 2017 के विधानसभा चुनाव लड़ा था। भाजपा ने उन्‍हें अमरोहा जिले की नौगांव सादात सीट से टिकट दिया था जहां से वह जीते और उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री बनाए गए।

1991 से राजनीतिक का सफर हुआ था शुरू

चेतन चौहान ने भाजपा की टिकट से 1991 में अमरोहा में चुनाव लड़ा और वे वहां से सांसद चुने गए थे। इसके बाद एक बार फिर 1996 में बीजेपी ने उन्‍हें इसी मैदान में चुनावी जंग के लिए उतारा, लेकिन इस बार वे जीत दर्ज नहीं करा पाए थे। 1998 में चेतन चौहान एक बार फिर सांसद चुने गए।

वहीं, साल 1999 और 2004 के लोकसभा चुनाव में भी उन्‍होंने अपनी किस्‍मत आजमाई, लेकिन हार का सामना करना पड़ा। फिर 13 साल बाद भाजपा के टिकट पर 2017 का विधानसभा चुनाव लड़ा और वह बीजेपी ने उन्‍हें अमरोहा जिले की नौगांव सादात सीट चुनाव जीतकर योगी सरकार में मंत्री बनाए गए।

चेतन चौहान का क्रिकेट का सफर

चौहान ने साल 1969 में टेस्ट डेब्यू किया और 1981 में उन्‍होंने अपने करियर का आखिरी टेस्ट मैच खेला। चेतन चौहान भारतीय क्रिकेट टीम के ओपनर बल्‍लेबाज भी रह चुके हैं। चौहान ने 40 टेस्ट खेले, जिसमें उन्‍होंने 2084 रन बनाए। गौर करने वाली बात यह भी है कि चेतन चौहान ने एक भी टेस्ट शतक नहीं जड़ा। चेतन चौहान ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 11 हजार रन बनाए। चेतन चौहान की अपनी क्रिकेट अकादमी भी थी।

अर्जुन अवार्ड से सम्मानित हुए थे चेतन चौहान

भारतीय क्रिकेट टीम के ओपनर बल्‍लेबाज रहे चेतन चौहान को साल 1981 में अर्जुन अवॉर्ड से सम्‍मानित किया गया था। साल 2016 में चेतन चौहान को विवादों का सामना उस वक्‍त करना पड़ा जब उन्‍हें निफ्ट का चेयरमैन नियुक्त किया गया था। एक पूर्व क्रिकेटर को फैशन डिजाइनिंग इंस्टीट्यूट का प्रमुख बनाया जाना कई लोगों के गले नहीं उतरा था। इसके बाद कई दिनों तक विवादों में चेतन चौहान रहे।

Next Story
Share it
Top