Top
undefined

अयोध्या विकास प्राधिकरण 2 सितम्बर को अप्रूव करेगा राम मंदिर का नक्शा, विकास शुल्क में 65 फीसदी टैक्स में मिलेगी छूट

अयोध्या विकास प्राधिकरण 2 सितम्बर को अप्रूव करेगा राम मंदिर का नक्शा, विकास शुल्क में 65 फीसदी टैक्स में मिलेगी छूट
X

अयोध्या। उत्तर प्रदेश के अयोध्या में बनने वाले राम मंदिर का नक्शा पास करने के लिए अयोध्या विकास प्राधिकरण की टीम औपचारिकताएं पूरी कर इस पर पड़ने वाले विकास शुल्क के अलावा अन्य शुल्कों का आंकलन करने मे जुटी है। बाकी नक्शे की जांच की सारी औपचारिकताएं पूरी कर ली गई हैं। अब इसके लिए 2 सितम्बर को बुलाई गई प्राधिकरण बोर्ड की बैठक में राम मंदिर का नक्शा पास हो जाएगा।

अयोध्या विकास प्राधिकरण (एडीए) के सचिव रवींद्र प्रताप सिंह के मुताबिक 70 एकड़ के बड़े क्षेत्र का नक्शा पास करने का अधिकार प्राधिकरण बोर्ड को ही है। उन्होंने बताया कि श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट आयकर की 80 जी धारा मे पंजीकृत है। ऐसे में मंदिर के नक्शे में लगने वाले विकास शुल्क में 65 फीसदी की छूट मिलेगी।

यह शुल्क 472 रू प्रति वर्ग मीटर की दर से लिया जाता है। इस छूट के लाभ से ट्रस्ट को विकास शुल्क मे काफी राहत मिलने जा रही है। इसके अलावा गारबेज टैक्स भी नक्शे पर नहीं पडेगा क्योंकि मलबे को रखने का पर्याप्त जगह मंदिर परिसर में मौजूद है।

सिंह के मुताबिक मंदिर के नक्शे पर अनुज्ञा शुल्क ,अवशेष 35 फीसदी विकास शुल्क, मानचित्र शुल्क व लेबर सेस टैक्स लिया जा रहा है। इन टैक्सों की दरें तुलनात्मक बहुत अल्प हैं। सचिव ने कहा कि राम मंदिर का प्राजेक्ट अंतरराष्ट्रीय स्तर का है। सबकी निगाहें इसके निर्माण शुरू होने पर लगी है। ऐसे में एडीए इसका नक्शा पास करने में कोई बिलंब नहीं करना चाहता। हमने नक्शा पास करने की सारी औपचारिकताएं पूरी कर ली हैं। अब 2 सितम्बर को बोर्ड की बैठक में इस पर मुहर लगनी है। मंदिर ट्रस्ट ने मंदिर का नक्शा जमा करते समय 65 हजार रू शुल्क की अग्रिम राशि जमा कर दी है।

निर्माण कार्य शुरू करने की तैयारी

मंदिर ट्रस्ट कार्यालय के प्रभारी प्रकाश गुप्त के मुताबिक राम मंदिर के पांच एकड़ क्षेत्र के सटे जर्जर मंदिरों को गिराकर साफ करवाया जा रहा है। एलएंडटी की मशीनें मंदिर परिसर में पहुंच चुकी हैं। कई अन्य एक दो दिन में पहुंचने वाली हैं। ऐसे में मंदिर की नीेंव की खुदाई कर पिलर खड़ा करने का काम शुरू होने में अब देर नहीं है। नक्शा पास होते ही निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा।

Next Story
Share it
Top