Top
undefined

बुलंदशहर पुलिस ने बुलेट सवार आरोपियों पर घोषित किया 20 हजार का इनाम, पांच दिन बाद भी पुलिस खाली हाथ

बुलंदशहर पुलिस ने बुलेट सवार आरोपियों पर घोषित किया 20 हजार का इनाम, पांच दिन बाद भी पुलिस खाली हाथ
X

बुलंदशहर। ग्रेटर नोएडा की रहने वाली सुदीक्षा भाटी की बीते सोमवार को बुलंदशहर में सड़क हादसे में मौत हो गई थी। परिवार वालों ने आरोप लगाया था कि बुलेट सवार दो युवक रास्ते में छेड़खानी कर रहे थे। इससे सुदीक्षा हादसे का शिकार हुई। इस प्रकरण की जांच के लिए एसआईटी बनाई गई, पांच अन्य टीमों को भी सक्रिय किया गया। लेकिन अभी तक कोई भी सुराग हाथ नहीं लगा है। अब बुलंदशहर पुलिस ने इनाम का सहारा लिया है। शुक्रवार को पुलिस ने बुलेट सवार आरोपियों की पहचाने बताने पर 20 हजार रुपए का इनाम घोषित किया है। पुलिस सीडीआर, हादसा स्थल पर मोबाइल लोकेशन व इलाके में लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगाल रही है।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह ने बताया कि, सुदीक्षा के पिता की शिकायत, उसके चचेरे भाई और प्रत्यक्षदर्शियों के बयानों के आधार पर बीते मंगलवार को एफआईआर दर्ज की गई है। जिसमें छेड़छाड़ के आरोप नहीं है।

पिता ने यह लगाया था आरोप

सुदीक्षा के पिता जितेंद्र ने आरोप लगाया था कि, सुदीक्षा अपने ननिहाल बुलंदशहर जा रही थी। लेकिन कुछ बाइक सवार दीक्षा से छेड़खानी कर रहे थे। छेड़खानी के कारण ही औरंगाबाद थाना क्षेत्र में हादसा हुआ और उसमें दीक्षा की जान गई और दीक्षा का भाई घायल है।

सरकार की स्कॉलरशिप पर अमेरिका में कर रही थी पढ़ाई

सुदीक्षा ग्रेटर नोएडा के दादारी थाना क्षेत्र में डेरी स्कनर गांव की रहने वाली थी। पिता जितेंद्र भाटी चाय बेचकर परिवार का गुजारा करते हैं। बेहद साधारण परिवार से ताल्लुक रखने के बावजूद सुदीक्षा ने अपनी मेहनत के बलबूते भारत सरकार से स्कॉलरशिप हासिल की थी। वह अमेरिका के बॉबसन कॉलेज में बिजनेस मैनेजमेंट का कोर्स कर रही थी। उसे एचसीएल की तरफ से 3.80 करोड़ की स्कॉलरशिप मिली थी। सुदीक्षा जून में भारत लौटी थी और उसे 20 अगस्त को अमेरिका लौटना था।

Next Story
Share it
Top