Top
undefined

घर की ओर 200 किमी पैदल चलने के बाद बिगड़ी थी तबीयत, बहन को आखिरी फोन. फिर चली गई जान

घर की ओर 200 किमी पैदल चलने के बाद बिगड़ी थी तबीयत, बहन को आखिरी फोन. फिर चली गई जान
X

आगरा . दिल्ली से मुरैना जाने के लिए निकले एक मजदूर की 200 किलोमीटर की यात्रा करने के बाद मौत हो गई। दिल्ली में टिफिन डिलिवरी का काम करने वाले इस मजदूर की आगरा के सिकंदरा थाना क्षेत्र में मौत हो गई थी। परिवार के मुताबिक, मौत से कुछ देर पहले ही उसने अपनी बहन को फोन करके ये कहा था कि उसकी तबीयत बिगड़ गई है।

टिफिन डिलीवरी करने वाले इस दिहाड़ी मजदूर रणवीर की लॉकडाउन की वजह से होटल मालिक ने छुट्‌टी कर दी थी। उसके पास वापस अपने गांव जाने के अलावा कोई चारा नहीं बचा था, लेकिन बस और ट्रेन बंद थी इसलिए वह शुक्रवार को शाम 3 बजे अपने कुछ साथियों के साथ पैदल मुरैना के लिए निकल पड़ा। अपनी मौत से पहले रणवीर 200 किलोमीटर चल चुका था।

बहन को बताया था बिगड़ गई तबीयत

रणवीर मुरैना में अपनी पत्नी, बच्चों और मां के पास जा रहा था और इनकी परवरिश की जिम्मेदारी के लिए ही वो दिल्ली गया था। रणवीर ने घर के लिए निकलने के बाद अपने बहन को फोन किया था और फरीदाबाद तक पहुंचने की जानकारी दी। शनिवार सुबह रणवीर के आगरा पहुंचने तक उसके साथी उससे आगे निकल गए और इसी बीच रणवीर की तबीयत भी बिगड़ गई।

बहन को किया था आखिरी फोन

रणवीर ने तबीयत खराब होने के कुछ वक्त बाद बहन को फोन करके बताया कि उसकी तबीयत बिगड़ गई है। बहन ने मदद की पेशकश भी की, लेकिन रणवीर ने इससे इनकार कर दिया। कुछ वक्त बाद रणवीर के बहनोई प्रमोद सखवार ने उसके मोबाइल पर कॉल किया तो एक राहगीर ने फोन उठाया और बताया कि रणवीर की तो मौत हो चुकी है। इसके बाद परिजन आगरा पहुंचे और रणवीर का पोस्टमार्टम कराकर शव उसके पैतृक गांव बड़फरा ले आए। इसके बाद रणवीर का अंतिम संस्कार कराया गया।

Next Story
Share it
Top