Top
undefined

कोविड अस्पताल की 5वीं मंजिल से कूदकर कोरोना संक्रमित हेड कांस्टेबल ने खुदकुशी की

कोविड अस्पताल की 5वीं मंजिल से कूदकर कोरोना संक्रमित हेड कांस्टेबल ने खुदकुशी की
X

मुरादाबाद। उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले में शनिवार की रात कोरोना संक्रमित हेड कांस्टेबल ने तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी (टीएमयू) के कोविड-19 अस्पताल की पांचवीं मंजिल की खिड़की से कूदकर अपनी जान दे दी। वह एसएसपी कार्यालय में शिकायत प्रकोष्ठ में तैनात था। एक सितंबर को संक्रमण की पुष्टि होने के बाद खुद टीएमयू में भर्ती हुए थे। 15 दिनों में यह तीसरी घटना, जब किसी कोरोना संक्रमित ने अस्पताल से छलांग लगाकर खुदकुशी की है। लेकिन, सुरक्षा के उपाय नहीं हुए।

हेड कांस्टेबल की मौत के बाद एसएसपी ने जिलाधिकारी को एक पत्र लिखकर मजिस्ट्रेट जांच कराने की मांग के साथ-साथ टीएमयू अस्पताल प्रबंधन को कोविड अस्पताल में व्यवस्था दुरुस्त करने के लिए एक नोटिस भी जारी किया गया है।

पांचवीं मंजिल से गिरते हुए सामने आया सीसीटीवी

हेड कांस्टेबल दिवाकर शर्मा मझोला थाना क्षेत्र के बुद्धि विहार में अकेले ही रहते थे। शनिवार को दिवाकर का अस्पताल स्टाफ से भी किसी बात को लेकर विवाद हुआ था। उसके बाद उनको एक इंजेक्शन दिया गया, जिसके बाद वह सो गए। सोकर उठने के बाद एक बार फिर किसी बात को लेकर अस्पताल स्टाफ से विवाद हो गया। रात में 11 बजे के आसपास हेड कांस्टेबल ने पांचवी मंजिल से कूदकर अपनी जान दे दी। घटनाक्रम का एक सीसीटीवी भी आया है।

पुलिस के अनुसार सीसीटीवी फुटेज में दिवाकर शर्मा कोरोना वार्ड की खिड़की की तरफ जाते हुए दिखाई दे रहे हैं। पुलिस इसको आत्महत्या ही मान रही है। हेड कांस्टेबल की मौत के बाद पुलिस प्रशासन हरकत में आ गया है। आखिर क्या वजह है कि 15 दिन में तीन लोगों ने खुदकुशी की है।

एसएसपी ने कहा- खुदकुशी के मामले की होगी जांच

एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने सोशल मीडिया पर एक बयान जारी कर कहा कि हेड कांस्टेबल दिवाकर शर्मा के आत्महत्या मामले में प्रथम दृष्टया विस्तृत जांच में खुदकुशी की पुष्टि हुई है। जिलाधिकारी को मजिस्ट्रेट जांच कराने के लिए पत्र भी लिखा गया है। टीएमयू प्रशासन को भी नोटिस जारी किया गया है। टीएमयू अस्पताल प्रशासन अगले कुछ दिनों में व्यवस्थाओं को दुरुस्त करें। जिससे भविष्य में ऐसी दुर्घटना ना हो सके। मजिस्ट्रेट जांच रिपोर्ट के आधार पर ही अगली कार्रवाई की जाएगी। तीन कोरोना संक्रमित मरीजों की कूदने से मौत दुर्भाग्यपूर्ण है।

बैंक मैनेजर व महिला ने की थी खुदकुशी

ग्रामीण बैंक के मैनेजर राजेश कुमार ने टीएमयू की बिल्डिंग से कूदकर जान दे दी थी। वे बिहार के रहने वाले थे। मुरादाबाद में सिविल लाइन में रहते थे। 25 अगस्त को संक्रमण की पुष्टि होने के बाद वे टीएमयू में खुद भर्ती हुए थे।

5 अगस्त 2020: बिलार थाना क्षेत्र के गौरा गांव निवासी 28 साल की एक महिला अस्पताल से भागने के कोशिश में अस्पताल की तीसरी मंजिल से गिर गई थी। इससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई थी। उसका शव पहली मंजिल पर मिला था।

Next Story
Share it
Top