Top
undefined

मुरादाबाद में सीबीआई की छापेमारी:प्रथमा यूपी ग्रामीण बैंक का जनरल मैनेजर 50 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए पकड़ा गया, 5 लाख रुपए और एलईडी टीवी बरामद

मुरादाबाद में सीबीआई की छापेमारी:प्रथमा यूपी ग्रामीण बैंक का जनरल मैनेजर 50 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए पकड़ा गया, 5 लाख रुपए और एलईडी टीवी बरामद
X

मुरादाबाद। उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले में रविवार की शाम गाजियाबाद से आई सीबीआई की एक टीम ने प्रथमा यूपी ग्रामीण बैंक के जनरल मैनेजर (महाप्रबंधक) रविकांत को 50 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए पकड़ा है। उनके घर से मिले पांच लाख रुपए और एलईडी टीवी को सीबीआई ने कब्जे में लिया है। देर रात सीबीआई टीम जनरल मैनेजर को अपने साथ गाजियाबाद ले गई।

एनपीए की रिकवरी के लिए टेंडर दिए जाने का मामला

मुरादाबाद के रामगंगा विहार में प्रथमा बैंक का मुख्यालय है। इसके थोड़ी दूरी पर जनरल मैनेजर रविकांत का आवास है। रविवार की शाम कुछ लोग उनके घर आए। उनके साथ कुछ सामान था। उन लोगों ने उन सामानों को रविकांत के घर पर रख दिया और चले गए। तभी अचानक आसपास घूम रहे लोगों ने रविकांत को दबोच लिया। अनहोनी की आशंका पर आसपास के लोग बचाव के लिए दौड़े। लेकिन दबोचने वाली टीम जब अपना परिचय सीबीआई से होने का दिया तो लोग पीछे हट गए।

15 अगस्त को मिला था पांच लाख रुपए

सीबीआई सूत्रों ने बताया कि प्रथमा बैंक की करीब 200 शाखाओं में एनपीए हुए लोन की रिकवरी के लिए टेंडर होना है। इसके लिए दो एजेंसी ने आवेदन किया था। बताया जा रहा है कि गाजियाबाद की रिकवरी एजेंसी के बजाय दूसरी कंपनी को रुपए लेकर टेंडर देने की बात फाइनल हो गई थी। एजेंसी को जब इस बात की जानकारी हुई तो उसने रुपए देकर टेंडर दिलाए जाने पर सहमति जता दी। बताया जा रहा है कि पांच लाख रुपए 15 अगस्त काे दे दिए गए थे पर बाद में और रुपए और सामान की मांग की गई। इसके बाद एजेंसी ने सीबीआई से संपर्क किया। रविवार को एजेंसी के सह संचालक और सीबीआई की टीम ने पूरा प्लान बनाकर रविकांत को उनके घर से 50 हजार की रिश्वत के साथ रंगे हाथ पकड़ा।

Next Story
Share it
Top