Top
undefined

अफसरों के सामने मर्डर केस:आरोपी की भाभी की धमकी- हमारी FIR दर्ज नहीं की तो घर की 7 औरतें आत्मदाह कर लेंगी

अफसरों के सामने मर्डर केस:आरोपी की भाभी की धमकी- हमारी FIR दर्ज नहीं की तो घर की 7 औरतें आत्मदाह कर लेंगी
X

बलिया। उत्तर प्रदेश में बलिया के दुर्जनपुर गांव में कोटे की दुकान को लेकर हुई हत्या के मामले में शुक्रवार को नया मोड़ आ गया। मुख्य आरोपी धीरेंद्र सिंह के परिवार वालों की क्रॉस FIR दर्ज न होने पर आरोपी के घर की महिलाओं ने जान देने की धमकी दी है। धीरेंद्र की भाभी आशा प्रताप सिंह ने कहा कि अगर आज शाम 5 बजे तक हमारी FIR दर्ज नहीं हुई तो घर की 7 औरतें आत्मदाह कर लेंगी। इसका जिम्मेदार प्रशासन होगा।

इस चेतावनी के बाद पुलिस और जिला प्रशासन सतर्क हो गए है। वहीं, आरोपी के परिवार को मनाने के लिए लोग उसके घर पहुंच रहे हैं। लेकिन, महिलाएं किसी की सुनने को तैयार नहीं हैं।

धीरेंद्र को रिमांड पर लेकर पुलिस कर रही पूछताछ

पुलिस ने मुख्य आरोपी धीरेंद्र को रिमांड पर ले रखा है। गुरुवार को उससे रेवती थाने के प्रभारी प्रवीण कुमार सिंह ने बंद कमरे में पूछताछ की थी। आरोपी के वकील बृजेश सिंह भी थाने में मौजूद रहे। बंद कमरे में पूछताछ के बाद पुलिस धीरेंद्र को दुर्जनपुर में उसके घर पर ले गई। घर पहुंचते ही महिलाएं आरोपी से लिपट कर रोने लगीं। बलिया के CJM कोर्ट ने बुधवार को धीरेंद्र की 3 दिन की पुलिस रिमांड मंजूर की थी, जो आज पूरी हो रही है।

पूरा मामला क्या है?

बलिया जिले के रेवती थाना इलाके के दुर्जनपुर गांव के पंचायत भवन में 15 अक्टूबर को हनुमानगंज और दुर्जनपुर की कोटे की दुकानों की लॉटरी को लेकर खुली बैठक की जा रही थी। इस दौरान विवाद हो गया और दोनों पक्ष झगड़ने लगे। प्रशासन के विरोध में नारेबाजी हुई। देखते ही देखते ईंट-पत्थर चलने लगे। इस दौरान पुलिस के सामने ही धीरेंद्र ने फायरिंग कर दी। इससे जयप्रकाश पाल (45) की गोली लगने से मौत हो गई। इस मामले में धीरेंद्र समेत 8 नामजद और 25 अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया था। घटना के 72 घंटे के बाद यूपी STF ने लखनऊ के पॉलीटेक्निक चौराहे से धीरेंद्र को गिरफ्तार किया था।

Next Story
Share it
Top