Top
undefined

भगवा पर सियासत तेज ...प्रियंका गाँधी को योगी का जवाब- विरासत में राजनीति पाने वाले क्या समझें भगवा का अर्थ

भगवा पर की गई प्रियंका गांधी की टिप्पणी पर आया योगी आदित्यनाथ का जवाब, सीएम योगी के ऑफिस की तरफ से ट्वीट में कहा-लोक सेवा के लिए धारण किया है भगवा, 'विरासत में राजनीति पाने वाले और तुष्टिकरण की राजनीति करने वाले क्या समझें लोक सेवा', प्रियंका ने योगी पर निशाना साधते हुए कहा था कि भगवा हमें शांति-करुणा सि‍खाता है, बदला लेना नहीं

भगवा पर सियासत तेज ...प्रियंका गाँधी को योगी का जवाब- विरासत में राजनीति पाने वाले क्या समझें भगवा का अर्थ
X

लखनऊ . उत्तर प्रदेश में 'भगवा' पर पक्ष-विपक्ष की राजनीति तेज हो गई है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने सीएम योगी के वस्त्र पर निशाना साधते हुए कहा था कि भगवा हमें शांति और करुणा सि‍खाता है, बदला लेना नहीं। इस पर सीएम की तरफ से जवाब आया है कि उन्होंने भगवा लोक सेवा के लिए धारण किया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ऑफिस की तरफ से ट्वीट में कहा गया, 'मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भगवा लोक सेवा के लिए धारण किया है। सब कुछ त्याग कर। वे न केवल भगवा धारण करते हैं, बल्कि उसका प्रतिनिधित्व भी करते हैं। भगवा वेशभूषा लोक कल्याण और राष्ट्र निर्माण के लिए है और योगीजी उस पथ के पथिक हैं।'

ट्विटर हैंडल से कहा गया, 'संन्यासी की लोक सेवा और जन कल्याण के निरंतर जारी यज्ञ में जो भी बाधा उत्पन्न करेगा, उसे दंडित होना ही पड़ेगा। विरासत में राजनीति पाने वाले और देश को भुला कर तुष्टिकरण की राजनीति करने वाले लोक सेवा का अर्थ क्या समझेंगे?'

इससे पहले प्रियंका ने सीएम योगी पर निशाना साधते हुए कहा कि राज्‍यपाल को दी गई चिट्ठी में हमने कई ऐसे सबूत दिए हैं, जिससे यह दिख रहा है कि पुलिस और प्रशासन सीएम के बदला लेने के बयान पर कायम है। उन्‍होंने कहा, 'देश के इतिहास में संभवत: ऐसा पहली बार हुआ जब एक सीएम ने कहा कि बदला लिया जाएगा। यह देश कृष्‍ण और भगवान राम का है जो करुणा के प्रतीक हैं।'

वहीं, राज्य के उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कांग्रेस और समाजवादी पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा, 'एसपी और कांग्रेस के लोगों को लोकसभा चुनाव में हार के बाद अपना वोटबैंक खिसकता दिखाई दिया। ये लोग अल्पसंख्यक तुष्टीकरण के नाम पर यह भूल गए हैं कि वे दंगाइयों को समर्थन देने का काम कर रहे हैं। प्रियंका गांधी उन लोगों के पक्ष में खड़ी दिखाई दे रही हैं, जिन्होंने पत्थर चलाए, सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाया और गोलियां चलाईं।

Next Story
Share it
Top